Lal singh aarya wanted poster

वान्टेड मंत्रीजी का पता बताने वालों को 5000 रुपये का इनाम: एनएसयूआई

138
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

भोपाल। भिंड के विशेष न्यायालय द्वारा जारी किए गए मंत्री लाल सिंह आर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट के बाद भी पुलिस आर्य को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। मंत्री आर्य को जल्द से जल्द गिरफतार करने की मांग को लेकर एनएसयूआई ने शहर में मंत्री आर्य के वांटेड के पोस्टर चस्पा कर दिए है। ​जिसमें सूचना ​देने वाले 500 रूपए का इनाम दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि मंत्री लाल सिंह आर्य पर गोहद के तत्कालीन कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव की हत्या का आरोप है। आर्य की गिरफ्तारी के लिए गोहद एसडीओपी प्रवीण अष्ठाना के नेतृत्व में गठित की गई तीन टीमों ने उनके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है, लेकिन आर्य का सुराग नहीं मिला है एनएसयूआई ने आर्य के वांटेड के सैंकडो पोस्टर भोपाल में भाजपा कार्यालय और पुलिस थानों के पास चिपकाकर जल्द से जल्द से गिरफ्तारी करने की मांग की है।

Lal singh aarya wanted poster

Janmanchnews.com

पुलिस टीम ने उनके नजदीकी रिश्तेदार तथा ग्वालियर के दीनदयाल नगर स्थित निजी आवास पर भी दबिश दी, लेकिन वह पुलिस दल को नहीं मिले। पुलिस ने उम्मीद जताई है कि 19 दिसंबर को कोर्ट में लाल सिंह आर्य की पेशी है, इससे पूर्व ही उनकी टीम आर्य को गिरफ्तार कर लेगी। कोर्ट के आदेश का पालन कराया जा रहा है।

गौरतलब है कि विधायक माखनलाल जाटव हत्याकांड के तीन गवाह प्रकरण की सुनवाई के दौरान अपने बयानों से मुकर चुके हैं। ऐसे में इसी प्रकरण के एक मुख्य गवाह बंटी उर्फ सूर्यभान सिंह ने न्यायालय को इस आशय का आवेदन दिया था कि यदि लाल सिंह आर्य की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वे मामले से जुड़े अन्य गवाहों को भी तोड़कर अपने पक्ष में कर लेंगे।

उधर मध्यप्रदेश हाई कोर्ट ने माखनलाल हत्याकांड में आरोपी लालसिंह आर्य पर सुनवाई 19 अक्टूबर से फिर से शुरू करेगी।