BREAKING NEWS
Search
IGIMS patna

दवा दुकानदार की गोली मार के हत्या, घटनाक्रम में 9 साल के बच्चे को भी लगी गोली, विरोध में IGIMS मेन गेट पर शव को रख किया हंगामा

106
Share this news...

पटना.  पटना में दवा दुकानदार की हत्या के विरोध में लोगों ने गुरुवार सुबह साढ़े 8 बजे बेली रोड जाम कर दिया। गुस्साए लोग IGIMS के मेन गेट पर दवा दुकानदार के शव को रखकर करीब 2 घंटे तक हंगामा किया। मृतक के परिजन और दर्जनों महिलाएं ने भी IGIMS गेट के सामने प्रदर्शन किया। आक्रोशित लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर आगजनी भी की, जिस कारण बेली रोड पुल के नीचे आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया। जगदेव पथ से लेकर चिड़ियाघर तक पुल के नीचे करीब 2 घंटे वाहनों का परिचालन ठप है। ऑटो और बस वाले इधर से जाने के इंकार कर रहे हैं, जिस कारण आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही एयरपोर्ट और शास्त्री नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है। पुलिस लोगों को समझाने-बुझाकर शांत करवाया। लेकिन, लोग पुलिस की बात नहीं बात मान रहे हैं। उनका कहना है कि सरकार हत्यारे को जल्द से जल्द गिरफ्तार कराएं, मृतक के घर में से किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी और उचित मुआवजा दें।

अपराधियों ने सीने में दागी थी गोली

बुधवार रात अपराधियों ने वहां पर कुल 3 गोलियां चलाई। एक गोली सीधे दवा दुकानदार को लगी जो सीने को भेदती हुई निकल गई और वहीं पास में खड़े 9 साल के बच्चे को जा लगी। दवा दुकानदार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चा गंभीर रूप से घायल है। उसका इलाज IGIMS में चल रहा है। पड़ोसियों के अनुसार, वीरेंद्र यादव नाश्ता करने के लिए अपनी दुकान से निकले थे। तभी बाइक से आए अपराधियों ने फायरिंग कर दी। वारदात को अंजाम देकर अपराधी बड़े आराम से फरार हो गए।

वीरेंद्र यादव का घर दुकान से कुछ दूरी पर ही स्थित है। परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। दवा दुकानदारों के बीच काफी गुस्सा है। पुलिस के अनुसार, लोगों को हत्यारे की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया गया है। CCTV फुटेज को खंगाला जा रहा है। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

क्या है मामला ?

राजधानी में अपराधियों ने तांडव मचा दिया है। IGIMS के गेट नंबर 2 के पास दवा दुकानदार वीरेंद्र यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। अपराधियों ने वहां पर कुल 3 गोलियां चलाई। एक गोली सीधे दवा दुकानदार को लगी जो सीने को भेदती हुई निकल गई और वहीं पास में खड़े 9 साल के बच्चे को जा लगी। दवा दुकानदार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चा गंभीर रूप से घायल है और IGIMS में ही उसका इलाज चल रहा है। यह वारदात बुधवार की रात 7:30 बजे के बाद की है। पड़ोसियों के अनुसार उस वक्त वीरेंद्र यादव नाश्ता करने के लिए अपनी दुकान से निकले थे। तभी बाइक से आये अपराधियों ने फायरिंग कर दी। वारदात को अंजाम देकर अपराधी बड़े आराम से फरार हो गए।

वीरेंद्र यादव का घर दुकान से कुछ दूरी पर ही स्थित है। परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। गोली चलने और हत्या की वजह से पूरे इलाके में सनसनी मची हुई है। दवा दुकानदारों के बीच काफी गुस्सा भरा हुआ है। दूसरी तरफ, वारदात की जानकारी मिलने के बाद शास्त्री नगर थाना की पुलिस टीम मौके पर पहुंची। अब पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस के अनुसार वारदात के पीछे की वजह स्पष्ट नहीं है।

प्रति घंटे के हिसाब से मांगी गई रंगदारी बनी वजह

पुलिस हत्या के पीछे की वजह भले ही नहीं बता रही है। मगर, मौके पर मौजूद लोगों और आसपास के दवा दुकानदारों की मानें तो IGIMS के अंदर एक्टिव रंगदार और उनके दलालों का हाथ इस वारदात के पीछे है। दरअसल, रंगदारों ने गेट नंबर 2 के बाहर की दवा दुकानो का हर  एक घंटे का स्लॉट बांध रखा है। IGIMS में डॉक्टरों की तरफ से मरीजों को लिखे जाने वाली दवा पुर्जे दलाल वहां लेकर जाते हैं। जिस वक्त जिस दुकान का टाइम होता है, उस दौरान वहां से दवा की खरीदारी होती है। इसके एवज में रंगदार मोटी रकम दवा दुकानदार से वसूल करते हैं। एक दुकानदार की मानें तो रंगदारी की रकम नहीं देने की वजह से ही वीरेंद्र यादव की हत्या कर दी गई। इससे पहले 26 फरवरी को अपराधियों ने गेट नम्बर 2 के बाहर फायरिंग की थी।

Share this news...