BREAKING NEWS
Search
शिकायत

बेरहम हुई मां, पड़ोसी की साइकिल तोड़ने पर अपने ही बच्चे को किया आग के हवाले

357
Share this news...

गुस्से में हो जाता अनर्थ यदि पड़ोसी मदद को न दौड़ते…

Aslam Ali

असलम अली

 

 

 

 

 

 

मिर्जापुर: पड़ोसी के बच्चे की साइकिल तोड़ने की शिकायत पर गुस्से में आई एक मां ने अपने ही बेटे को आग के हवाले कर दिया। स्थानीय लोगों की मदद से बच्चे को अस्पताल पहुंचा गया, जहां डॉक्टरों की निगरानी में बच्चे का इलाज चल रहा है। फिलहाल बच्चे की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

मामला चुनार थाना क्षेत्र के रैपुरिया गांव का है, जहां बुधवार को मां का मातृत्व कलंकित होते- होते बच गया। यदि समय रहते लोगों ने हस्तक्षेप नहीं किया होता तो मासूम संतान के साथ कुछ भी हो सकता था। प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला का 9 वर्षीय पुत्र प्रदीप खेल खेल में पड़ोसी के घर जा पहुंचा और वहां उसकी साइकिल को क्षतिग्रस्त कर दी। जिससे आक्रोशित पड़ोसी ने महिला से उसके पुत्र की शिकायत की साथ ही साथ साइकिल क्षतिग्रस्त करने के जुर्माने के रूप में दो सौ रुपया भी ले लिया।

पड़ोसी कांता के इस उलाहना से मां का गुस्सा अपने पुत्र के प्रति इस तरह से भड़का कि उसने मासूम को कमरे में बंद कर दिया। चर्चाओं के अनुसार मां ने उसे कमरे में बंद कर मिट्टी का तेल डाल आग के हवाले कर दिया। बालक की चीख पुकार और कमरे से धुआं उठता देख पड़ोसी दौड़े।

ग्राम प्रधान संजय सिंह के सहयोग से झुलसे बालक प्रदीप को उसमें से निकाल कर स्थानीय अस्पताल में पहुचाया। महिला के पांच बच्चे हैं और उसका पति मछली मारने का काम करता है। आग से झुलसे बच्चे का चुनार स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर इलाज चल रहा है।

वहीं चुनार प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मां द्वारा आक्रोश में बालक को जलाने की घटना सही है, लेकिन वह अधिक नहीं झुलसा है। बच्चे का उपचार चल रहा है। बताया जा रहा है कि पड़ोसी की शिकायत मां को नागवार गुजरी, इसलिए गुस्से में उसने यह कदम उठाया है।

Share this news...