BREAKING NEWS
Search
Hemant katare blackmail by common girl

विधायक हनीट्रैप: छात्रा को मिली जमानत, मां ने विधायक पर लगाया डराने का आरोप

478
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

भोपाल । कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे हनीट्रेप मामले में अभी और भी कई खुलासे बाकी हैं। करीब आधा दर्जन वीडियो और आॅडिया के बाद भी काफी कुछ है जो पता चलने वाला है।

इस मामले में गिरफ्तार की गई छात्रा को जमानत के बाद जेल से रिहा कर दिया गया है। जेल से बाहर आने के बाद युवती ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह जल्द ही हेमंत कटारे के खिलाफ बड़े खुलासे करेगी।

इन खुलासों में वह वीडियो, आडियो सीडी और अहम दस्तावेज सार्वजनिक करेगी। इधर पूरे मामले की जांच के लिए सीएम शिवराज सिंह ने एसआईटी का गठन कर दिया है।

युवती ने आरोप लगाया है कि विधायक हेमंत कटारे ने उसे झूठे आरोपों में फंसाया है। युवती ने दावा किया कि उसके द्वारा हेमंत कटारे के खिलाफ कराए गए दुष्कर्म और अपहरण के मामले में अहम सबूत हैं। इन सबूतों को वह एसआईटी को देगी और साथ ही उन्हें सार्वजनिक भी करेगी।

विदित हो कि युवती को अपर सत्र न्यायाधीश बीके साहू ने कल सोमवार को एक लाख रुपए की सक्षम जमानत और इतनी ही राशि का बंधन पत्र पेश करने पर जमानत के आदेश दिए थे। युवती आज मंगलवार को इसी जमानत के आधार पर भोपाल सेंट्रल जेल से रिहा हुई है।

युवती को विधायक हेमंत कटारे से 5 लाख रुपए अड़ीबाजी कर वसूलते हुए भोपाल क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने आरोपी युवती को महीने की 1 और 15 तारीख को संबंधित थाने में उपस्थित होने के भी निर्देश दिए हैं। साथ ही भोपाल से बाहर जाने से पहले आरोपी युवती को संबंधित थाने या संबंधित कोर्ट में सूचना देनी होगी।

SIT गठित, 9 दिग्गज अधिकारी करेंगे जांच-
विधायक हेमंत कटारे मामले की जांच के लिए SIT का गठन मंगलवार को डीआईजी भोपाल धर्मेन्द्र चौधरी द्वारा किया गया है। SIT का इंचार्ज भोपाल एसपी साउथ राहुल कुमार लोढा को बनाया गया है। वहीं एसपी के निर्देशन में मामले की जांच 9 पुलिस अधिकारी-कर्मचारी करेंगे।

उधर छात्रा की माँ पहली बार मीडिया के सामने आई है, जिसे विधायक ने ब्लैकमेलिंग के आरोप में गिरफ्तार करवा दिया था। महिला ने विधायक कटारे पर अपहरण करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहाकि पहले जो वीडियो जारी हुआ था, उसे मेरे ऊपर पिस्तौल अड़ाकर बनाया गया था। विधायक हेमंत कटारे खुद पिस्तौल तानकर खड़े थे, बोले- जो कहा जा रहा है, वही बोलो, वरना तुम्हारी बेटी और परिवार को बर्बाद कर दूंगा। 

महिला ने कहा कि वह बहुत पावरफुल लोग हैं, कुछ भी कर सकते हैं। हमें न्याय चाहिए, मेरी बेटी को बचाएं। वह अभी सिर्फ 23 साल की है, उसे कुछ नहीं आता है। हमें सुरक्षा चाहिए, हम इनका कुछ नहीं बिगाड़ सकते हैं। मेरे आगे-पीछे कोई नहीं है, हम कमजोर लोग हैं। मां ने बताया कि मुझे गाड़ी बैठाया गया और एक फ्लैट में ले जाकर मेरे से कहा गया कि जो कह रहे हैं, वही बोलो। सामने विधायक खुद पिस्तौल लेकर बैठे थे, फिर मुझसे शपथपत्र पर साइन कराया गया।