Rape

एकाउंटेट को हेल्प के लिए बुलाकर युवती ने जबरदस्ती बना लिए संबंध, पकड़े तो किए चौक्काने वाले खुलासे

300
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। ट्रेजरी के एकाउंटेट को मदद के बहाने रूम पर बुलाकर युवतियों ने दुष्कर्म का आरोप लगा दिया। साथियों की मदद से ब्लैकमेल कर उनसे ढाई लाख रुपए ऐंठे, लालच बढऩे पर चौथे साथी से ब्लैकमेल कराकर ३.२५ लाख और ऐंठ लिए।

धीरे-धीरे एकांउटेंट से ६ लाख रुपए रखवा लिए। जब गिरोह और रकम मांगने लगा तो एकाउंटेंट ने झांसी रोड थाना पुलिस को बताया। पुलिस ने दो महिलाओं सहित चार लोगों पर एफआईआर की। पुलिस के मुताबिक हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी मुरैना निवासी अशोक कुमार गुप्ता को ब्लैकमेल किया जा रहा था।

उन्होंने बताया एक युवती करीब ८-१० दिन से उन्हें फोन कर रही थी। उनसे कहती उन्हें बहुत चाहती है। १७ सिंतबर को युवती ने परेशानी बताने के लिए उन्हें विक्की फैक्ट्री रेलवे पुल के पास बुलाया। उसकी बातों में फंसकर अशोक वहां पहुंच गए। युवती ने बहाना बनाया यहां लोग आ जा रहे हैं।

उन्हें पास के एक रूम पर लेकर पहुंची। वहां पहुंचते ही गोलू चौरिसया और आशा चौरिसया अचानक आ गए। उन्हें देखकर युवती बोली एकांउटेंट उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास कर रहा था। योजना के मुताबिक गोलू और आशा ने उन्हें धमकाया। फिर कहा थाने में रिपोर्ट करेंगे। फिर बोले अगर वह ढाई लाख रुपए देता है तो अपना मुंह बंद कर लेंगे। आखिर में अशोक ने झाँसी रोड थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाही की।

अशोक उनकी बात मान गया। फिर शिन्दे की छावनी स्थित शोरूम से बाइक खरीदवाई। फिर सेवढ़ा ले जाकर अशोक के खाते से डेढ़ लाख रुपए ले लिए। लालच बढ़ा तो गिरोह में शामिल चौथे साथी आशीष यादव से अशोक को ब्लैकमेल कराकर ३ लाख २५ हजार रुपए और एेंठे।

इस गिरोह के बारे में पता चला है कई और लोगों से भी इस तरह पैसे हड़प चुके हैं लेकिन बदनामी के डर से उन लोगों ने पुलिस से शिकायत नहीं की। इसलिए यह गिरोह काम को अंजाम देता रहा।

डॉ आशीष एसपी ग्वालियर ने कहा “गिरोह में अभी ४ लोगों के नाम सामने आए हैं। हो सकता है और भी लोग जुड़े हों। चारों पर एफआईआर कर उन्हें तलाश करने पुलिस टीम रवाना कर दी गई है।”