BREAKING NEWS
Search
Godse effigy

भारी दबाब में प्रशासन ने आखिर हटाई नाथूराम गोडसे की मूर्ति

355
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। ग्वालियर जिला प्रशासन ने आखिरकार आज शाम महात्मा गांधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे की मूर्ति को कड़े सुरक्षा बल के बीच आज शाम पांच बजे हिन्दू महासभा के दौलत गंज स्थित दफ्तर से ताला तोड़कर मूर्ति अपने कब्जे में ली। इस मामले में पुलिस ने हिन्दू महासभा के तीन कार्यकर्ताओं को एहतिहात के तौर पर हिरासत में ले लिया

हिन्दू महासभा ने विगत 15 नवम्बर को अचानक अपने दफ्तर को मंदिर घोषित करते हुए यहां महात्मा गांधी की हत्या के आरोपी नाथू राम गोडसे की ढाई फुट ऊंची प्रतिमा की स्थापना कर दी थी। इस बात के मीडिया में आते ही देश भर में हंगामा मच गया  था। देश दुनिया की मीडिया और बुद्ध जीवियों द्वारा आलोचना के साथ ही कांग्रेस ने भी काफी आक्रामक तेवर अपना लिए थे।

धरना प्रदर्शन के साथ ही प्रशासन को अल्टीमेटम दिया था कि अगर पांच दिन में गोडसे की मूर्ति जप्त नही की गई तो कांग्रेस कार्यकर्ता खुद जाकर हर हाल में प्रतिमा हटायेंगे।

देश भर में हो रही निंदा के बाद प्रशासन हरकत में आया और ग्वालियर के एडीएम ने हिन्दू महासभा को पांच दिन में मूर्ति हटाने का नोटिस दिया था जिसका समय आज शाम पांच बजे खत्म हो रहा था

प्रशासन भारी सुरक्षा बल लेकर दौलत गंज स्थित विवादित मंदिर पर पहुंचा लेकिन हिंदु महासभा कार्यकर्ता वहां ताला डालकर चले गए।

आखिरकार एसडीएम शिवराज वर्मा और एडिशनल एसपी दिनेश कौशल की मौजूदगी में प्रशासन की टीम ने ताला तोड़कर मूर्ति को कब्जे में लिया और फिर कपड़े में ढंककर वाहन से तत्काल वहां से ले गए। किसी अप्रिय की आशंका के मद्देनजर वहां अभी भी भारी सुरक्षा बल तैनात है