BREAKING NEWS
Search
Praduman singh

गंदे पानी को लेकर धरना पर बैठे पूर्व कांग्रेस विधायक गिरफ्तार

826
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियरअब तुम फिर आ गए, अब तुम इस गन्दे पानी को पियो तब पता चलेगा, उक्क्त बाते मरीमाता महलगांव के निवासियों ने नगर निगम के अधिकारियों के सामने कही,उनके साथ पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर भी लम्बे समय से नलों से गन्दे पानी की सप्लाई को लेकर आन्दोलन कर रहे थे।

मंगलवार को भी सुबह से वह क्षेत्रीय विधायक और प्रदेश सरकार के उच्चशिक्षा मंत्री जयभानसिंह पवैया के बंगले पर गन्दे पानी की बकेट्स लेकर स्थानीय लोगों को लेकर धरना पर बैठ गये थे। पुलिस फोर्स ने प्रद्युम्न का यहां से जबरदस्ती उठाकर पुलिस वाहन में डाल दिया। पुलिस टीम प्रद्युम्न के साथ दर्जनों कार्यकर्त्ताओं और मोहल्ले के बच्चों को भी गिरफ्तार कर ले गयी है।

यह है पूरा मामला-

दरअसल मरीमाता महलगांव में कई दिनों से नलों से गन्दा पानी आ रहा था, मंगलवार सुबह जब सिवरयुक्त गन्दा पानी नलों से आया तो लोंगो का गुस्सा भड़क गया, वो लोग बकेट्स में गन्दा पानी भर कर सड़को पर बैठ गए।

वैसे पूर्व विधायक प्रद्युम्नसिंह तोमर लम्बे समय से नलों से गन्दे पानी की सप्लाई को लेकर आन्दोलन कर रहे थे, पूर्व में भी उनकी नगरनिगम अधिकारी से उनकी झड़प होती रही, पूर्व नगरनिगम आयुक्त अन्य के कार्यकाल में इसी मुद्दे पर प्रद्युम्न दो बार गिरफ्तार हो चुके हैं।

इसके आलावा प्ऱद्युम्न अपने क्षेत्र के अस्पताल की खराब हालत के विरोध में भी आन्दोलन के दौरान गिरफ्तार किये जा चुके हैं, मंगलवार की सुबह प्रद्युम्नसिंह अपने समर्थकों के साथ और स्थानीय लोगों के साथ नलों से सप्लाई हो रहे सीवर युक्त पानी से भरी बकेट्स लेकर क्षेत्र के एमएलए और प्रदेश सरकार में मंत्री जयभानसिंह पवैया के बंगले पर पहुंच गये।

प्रद्युम्न के अनुसार वह मंत्री पवैया को दिखाना चाहते थे कि उनके एरिया की जनता कैसा पानी पी रही है। मंत्री स्वयं तो नहीं आये लेकिन नगर निगम और पुलिस अधिकारी प्रद्युम्न सिंह को समझाने पहुंचे।

प्रधुम्न तोमर निगम अधिकारियों से बोले ऐसा पानी पीने को मिले तब समझ में आयेगा नलों में सीवर का पानी लम्बे समय से मिल रहा है, जबकि निगम को 66 करोड़ का फण्ड सीवर ट्रीटमेंट के लिये बहुत पहले मिल चुका है।

निगम के अधिकारी ने इससे इंकार किया तो प्रद्युम्न बिफर पड़े, उनके साथ आई पब्लिक चिल्लाई, तुम पियो ऐसा पानी तब समझ में आयेगा।

हालात उग्र होते देख पुलिस टीम ने धरने पर बैठे प्रद्युम्न का जबरदस्ती दबोच कर पुलिस वैन में धकेल दिया। इसके बाद उनके साथ बैठे बच्चों सहित सभी कार्यकर्त्ताओं को गिरफ्तार कर हवालात के लिये ले गयी।