BREAKING NEWS
Search
Illegal wine

थाना प्रभारी के देखरेख में पुलिस थाने के पीछे अवैध शराब की फैक्ट्री

570
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। शहर में पुलिस थाने के पीछे थाना प्रभारी के देखरेख में अवैध शराब की फैक्ट्री चल रही थी, क्राइम ब्रांच ने छापा मारकर फेक्ट्री को शील किया, शहर एसपी डॉ आशीष ने थाना प्रभारी को नोटिस दिया और एक एएसआई सहित चार पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया।

इस अवैध फैक्ट्री में शराब की पैकिंग हो रही थी और पुलिस को देखकर फैक्ट्री के कर्मचारी भाग गये, लेकिन दो लोग पुलिस की पकड़ में आ गये, पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अवैध फैक्ट्री से शराब बनाने वाला केमीकल (ओपी) और पैकिंग मटेरियल बरामद किया गया है।

यह है पूरा मामला –

क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली कि पुरानी छावनी थाने के पीछे अवैध शराब की फैक्ट्री चल रही है, तब क्राइम ब्रांच की टीम ने बुधवार को पुरानी छावनी थाने के पीछे एक गोदाम में छापा मारा। पुलिस को देखकर वहां काम करने वाले कुछ लोग भाग गए,  लेकिन पुलिस ने दो लोगों को पकड़ लिया।

पुलिस ने गोदाम के भीतर जाकर देखा तो हैरान रह गई। यहां पर अवैध शराब बनाने का काम हो रहा था गोदाम में फैक्ट्री बना रखी थी और कई ड्रमों में शराब बनाने का केमिकल रखा हुआ था। क्राइम ब्रांच के गंभीर सिंह यादव ने बताया कि उन्हें मुखबिर से सूचना मिली थी कि पुरानी छावनी इलाके में यह शराब की फैक्ट्री चल रही है। जब सूचना पुख्ता हुई तो छापा मारा गया।


यह गोदाम रामबाबू का है और यहां से दो लोग मनोज और चन्द्रप्रताप को क्राइम ब्रांच ने मौके से गिरफ्तार किया है एक आदमी राजेश भदौरिया भागने में सफल हो गये। जबकि राजेश ने ही यह गोदाम किराया पर लेकर शराब फैक्ट्री स्थापित की थी, पकड़े गये दोनों लोगों ने बताया है कि एक हफ्ते पहले ही गोदाम में मशीनें लगाई गयी थी, और शराब की पैकिंग की जा रही थी पकड़े गए लोगों से पता चला कि यह शराब उत्तर प्रदेश, राजस्थान में सप्लाई की जाती है। 


अवैध शराब तैयार करने वाली इस फैक्ट्री से कई ड्रमों में शराब बनाने वाला केमीकल  (ओपी) यानी कि स्प्रिट, पैकिंग मटेरियल और मशीनें मिली है, क्राइम ब्रांच ने इस फैक्ट्री से लगभग 20 लाख रूपये का सामान जब्त किया है, और यहां से 6 ड्रम स्प्रिट के अलावा दो ट्रक और दो लोग मेटाडोर बरामद हुई है। 

पहले यह फैक्ट्री मालनपुर एरिया में थी। और कुछ दिन पहले यहां शिफ्ट की गयी है। इस फैक्ट्री से देशी शराब की पैकिंग कर तैयार की जाती थी। यहां पर देशी शराब मसाला और प्लेन तैयार करके पैकिंग की जाती थी, बाजार से आधे रेट में यह देशी शराब इस फैक्ट्री में तैयार की जाती थी। 

एसपी डॉ. आशीष ने बताया कि पुरानी छवानी थाना के पीछे अवैध शराब की फेक्ट्री चल रही थी, और जिसकी जानकारी थाना प्रभारी को न होने के कारण इसे अपराध माना जायेगा इसलिए थाना प्रभारी प्रीति भार्गव को कारण बताओ नोटिस जारी किया, तथा बीट प्रभारी सब इंस्पेक्टर आरएस कुशवाह, एक हैड कान्स्टेबल और दो आरक्षक को निलंबित कर दिया है।

साथ ही एसपी डॉ आशीष ने जाँच के लिए टीम का गठन किया जिसके जांच का जिम्मा एएसपी दिनेश कौशल को सौंपा गया है और 5 दिनों में इसकी जांच रिपोर्ट एसपी को सौंपना है।