BREAKING NEWS
Search
Jyotiraditya Madhavrao Scindia

केंद्र सरकार पर गरजे सिंधिया, कहा-भूत की तहर आए PM मोदी ने नोटबंदी कर देश को डुबोया

701
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए शहर के महाराज बाड़े पर एक जनसभा में कहा, 8 नवंबर को जब अंधेरी रात थी,तूफानी माहौल था तब एक भूत की तरह मंडराते हुए नरेन्द्र मोदी नोटबंदी की घोषणा कर पूरे देश को डुबो दिया।

जीएसटी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब रात को बच्चे को नींद नहीं आती तो उससे मां कहती थी बेटा सोजा नहीं तो गब्बर सिंह आ जाएगा लेकिन आज देश में हर नागरिक पर दिन दहाड़े गब्बर सिंह मंडरा रहा है। कांग्रेस जीएसटी के रूप में एक सरल टैक्स लाई थी,लेकिन भाजपा ने उसे भयावह बना दिया है।

नोटबंदी का एक साल पूरा होने पर कांग्रेस द्वारा इस दिन काला दिवस के रूप में मनाते हुए इस सभा का आयोजन किया। सिंधिया ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय राजनीति में ७० साल के इतिहास में ८ नवंबर को जो नया इतिहास लिखा है उसे काले दिन के रूप में याद किया जाएगा। पिछले पन्द्रह सालों में घरेलू उत्पादन को लेकर सबसे बुरे दिन चल रहे हैं। यही कारण है कि राष्ट्र का पेट भरने वाला किसान आत्महत्या कर रहा है।

पेट्रोल की कीमतों में अंतराष्ट्रीय स्तर पर ६० प्रतिशत की कमी आई और हमारे यहां पेट्रोल नई ऊंचाईयां तय कर रहा है। महिलाएं असुरक्षित हैं। मोदी ने नोटबंदी कर देश की प्रमुख संस्था भारतीय रिजर्व बैंक के साथ भी छल कपट किया। उन्होंने कहा, घोषणा से पहले जिस प्रकार मोदी ने सभी मंत्रियों के मोबाइल रखवा लिए थे जब उन्हें अपने मंत्रियों पर भरोसा नहीं है तो देश की जनता उन पर कैसे विश्वास करे। सभा की अध्यक्षता पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल व ग्रामीण अध्यक्ष मोहन सिंह राठौड़ ने की। संचालन संगठन प्रभारी महामंत्री लतीफ खां मल्लू और आभार जिला उपाध्यक्ष सुनील शर्मा ने किया।

125 लोगों की मौत के गुनहगार हैं मोदी सिंधिया ने कहा कि नोटबंदी के बाद न उद्योगपति और ना ही भाजपाई लाइन में लगे थे। सिर्फ जनता लाइन में लगी थी। इस दौरान जिन १२५ गरीब लोगों की जान गई उसके गुनहगार मोदी ही हैं। इसके बाद से सरकार कान में रुई और आंखों में पट्टी बांधकर चल रही है।

मोदी की नकल की सिंधिया ने मोदी की नकल करते हुए उनकी स्टाइल में भाषण भी दिया। वो कहते हैं भ्रष्टाचार, आतंकवाद मिटाना चाहता हूं। नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा नोट भाजपा नेताओं के पास ही पकड़े गए। बीस दिन में नए नोट सेना द्वारा मारे गए आतंकवादियों से बरामद हुए थे। इसके बाद आतंकवाद आग की तरह फैल गया है। आतंकवादियों ने सेना के बेस कैंप पर ही हमला कर दिया। वो कहते थे दस सिर लेकर आएंगे, कहां गई उनकी कथनी और करनी। भ्रष्टाचार को रोकने व आतंकवाद पर नियंत्रण लगाने में यह सरकार फेल हो चुकी है।

महिला की बचत को राख में बदल दिया सिंधिया ने कहा कि देश के ऊपर मोदी ने भारी संकट डाल दिया है। व्यापारी का शटर डाउन हो गया है। औद्योगिक क्षेत्र में मातम का माहौल है। १५ लाख लोग बेरोजगार हो चुके हैं। मोदी ने महिलाओं की बचत को राख में बदल दिया। किसान त्रस्त है और प्रधानमंत्री मस्त हैं।

कांग्रेस ने जीएसटी पर अधिकतम १८ प्रतिशत कर रखा था लेकिन भाजपा ने २८ प्रतिशत तो किया ही दवाओं पर भी टैक्स बढ़ा दिया। बिना तैयारी के इसे लागू किया। सरकार ने आम व्यापारी और उद्योग पर प्रहार ही किया है। फिर चुटकी लेते हुए वे बोले- जनता अब कहने लगी है कमल का फूल, हमारी भूल। उन्होंने कहा कि जनता को अच्छे दिन नहीं सच्चे दिन चाहिए। कांग्रेस २०१८ में भाजपा को मध्यप्रदेश में उखाड़ फेंकने के लिए तैयार है।