BREAKING NEWS
Search
MS Dhoni

MS Dhoni वनडे क्रिकेट से कर सकते हैं संन्यास का ऐलान, हेड कोच रवि शास्त्री ने दिए संकेत

243

New Delhi: भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने संकेत दिए हैं कि अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट से जल्द संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके एमएस धौनी लगातार शॉर्ट फॉर्मेट में भारतीय टीम का हिस्सा थे, लेकिन वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल के बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मैच तो छोड़ दीजिए, एक भी प्रतिस्पर्धी मैच भी नहीं खेला है।

उधर, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एमएस धौनी के संन्यास की अटकलों को मुख्य कोच रवि शास्त्री ने और भी सनसनीखेज बना दिया है। इसके पीछे कारण भी है क्योंकि भारतीय टीम के पास कम से कम 3 विकेटकीपर बल्लेबाज तैयार हो गए हैं, जो साल 2023 के वनडे वर्ल्ड कप में खेल सकते हैं। वहीं कप्तान एमएस धौनी साल 2023 तक 42 साल के हो जाएंगे। ऐसे में भारतीय चयनकर्ता उनके भविष्य पर विचार नहीं कर रहे। यही कारण है कि रवि शास्त्री ने धौनी के वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने के संकेत दिए गैं।

रवि शास्‍त्री ने सीएनन न्यूज 18 से बात करते हुए कहा है कि पूर्व भारतीय कप्तान धौनी जल्द ही अपने वनडे करियर को अलविदा कह सकते हैं। हालांकि, रवि शास्त्री ने इस बातचीत में इस बात के भी संकेत दिए हैं कि एमएस धौनी टी20 क्रिकेट में बने रह सकते हैं और वे ऑस्ट्रेलिया में इसी साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप का भी हिस्सा हो सकते हैं।

शास्‍त्री ने कहा है कि धौनी लंबे समय से क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेल रहे थे और फिर उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से एकाएक संन्यास ले लिया। यही वजह है कि वह अब वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट को भी छोड़ सकते हैं। इसके बाद धौनी इस उम्र (38 साल) में वह सिर्फ टी20 क्रिकेट ही खेलना चाहेंगे। हालांकि, इसके लिए उन्हें दोबारा से खेलना शुरू करना होगा।

IPL करेगा धौनी का बेड़ा पार?  

रवि शास्‍त्री ने इससे पहले कहा था कि एमएस धौनी क्या टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट देश के लिए खेल पाएंगे, इसका फैसला आने वाले आइपीएल में तय होगा। अगर महेंद्र सिंह धौनी आइपीएल में अच्छा प्रदर्शन करते हैं और युवा विकेटकीपर बल्लेबाज खराब प्रदर्शन करते हैं तो माही का टी20 करियर जिंदा रहेगा और वे टी20 वर्ल्ड कप 2020 में खेल सकते हैं। शास्त्री ने ये भी कहा था कि धौनी कभी भी खुद को टीम पर थोपना नहीं चाहेंगे, क्योंकि वे बड़े प्लेयर हैं।