zafaryab jilani

मुस्लिम पक्ष फैसले से संतुष्ट नहीं, समीक्षा याचिका पर होगा विचार

272

 Ayodhya Case Verdict, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद मुस्लिम पक्ष यानी सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा है कि वो इस फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन वो इससे संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने कहा है कि वो समीक्षा याचिका दायर भी कर सकता है। सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने कोर्ट के फैसले के बाद कहा कि भले ही फैसला संतोषजनक न हो, लेकिन इसे लेकर कहीं भी किसी प्रकार का कोई प्रदर्शन नहीं होना चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार उन्होंने कहा है कि यदि हमारी समिति इस पर सहमत होती है तो हम एक समीक्षा याचिका दायर करेंगे। यह हमारा अधिकार है और यह सर्वोच्च न्यायालय के नियमों में भी है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने आज ऐतिहासिक फैसला सुनाया। उन्होंने फैसला सुनाते हुए आदेश दिया कि 3-4 महीने के भीतर केंद्र सरकार को एक ट्रस्ट बनाने के लिए एक योजना तैयार करनी चाहिए और विवादित जगह को मंदिर के निर्माण के लिए सौंप देना चाहिए।