BREAKING NEWS
Search
BED College

बीएड कॉलेज में मनाई गई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती

436

मुकेश कुमार गोस्वामी की रिपोर्ट-

डोमचांच। डोमचांच प्रखंड अंतर्गत जयनगर रोड स्थित बैद्यनाथ प्रसाद स्नेही बीएड कॉलेज डोमचांच में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम की शुरुआत सचिव प्राचार्य एवं प्रधानाध्यापक गण द्वारा संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया।

कार्यक्रम को प्राचार्य डॉ भूपेंद्र ठाकुर ने संबोधित करते हुए कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की सिर्फ एक ही विचारधारा थी। राष्ट्रवाद वह बार-बार अपने भाषणों में कहा करते थे कि मेरा एकमात्र उद्देश्य भारत को स्वतंत्र करना है और इसमें जो हमारा मदद करेगा, वह हमारा मित्र है यह उनका राष्ट्रवाद ही था कि महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू से मतभेद होते हुए भी उन्होंने इन दोनों के नामों पर अपनी सेना में रेजीमेंट बनाएं।

सचिव हिमांशु कुमार ने कहा कि नेता जी ने महिला रेजिमेंट बनाकर विश्व में एक उदाहरण पेश कर दिया रानी झांसी रेजीमेंट आधुनिक युग में महिलाओं की पहली रेजिमेंट मानी जाती है नेताजी ऐसे पहले इंसान थे। जिन्होंने सिविल सेवा में जाने से इनकार कर दिया था।

कार्यक्रम में सोनी कुमारी सिमरन एवं सीमा कुमारी ने स्वागत गीत प्रस्तुत कर अतिथियों का सम्मान किया। डी.एल.एड की छात्रा सोनी कुमारी ने एकल गीत सोनू कुमार ने नेताजी का जीवन परिचय बी.एड के छात्र चंदन कुमार ने नेताजी के योगदान पर विस्तार से चर्चा किया।

मौके पर प्रो. राम कृष्ण प्रसाद प्रो. विनोद कुमार अवस्थी, प्रो. राजेश कुमार, प्रो. हरीश कुमार नीरज एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी विनय कुमार, सिकंदर कुमार, राकेश कुमार, एवं सूरज कुमार उपस्थित थे।

मंच संचालन डी.एल. एड की छात्रा अनु बर्नवाल ने दिया एवं धन्यवाद ज्ञापन डोली कुमारी ने किया। समस्त कार्यक्रम प्रोफेसर हरीश कुमार नीरज की देखरेख में संपन्न हुआ और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की राह पर चलने का प्रेरणा दिया गया।