BREAKING NEWS
Search
High Court- Janmanch

पॉस्को एक्ट की तामील केवल शारीरिक उम्र के आधार पर ही जा सकती है: सुप्रीम कोर्ट

315

दिल्ली की महिला द्वारा पेश की गई याचिका पर उच्चतम न्यायलय ने दिया फैसला…

Shabab Khan

शबाब ख़ान

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज एक बार फिर साफ कर दिया कि 18 वर्ष से कम शारीरिक उम्र वाले नाबालिग बच्चों के यौन शोषण के मामलो में ही इस कानून को लागू किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला दिल्ली की एक महिला द्वारा पेश की गई याचिका पर फैसला देते हुए कहा है। महिला ने अपनी 38 साल की बेटी के साथ हुए बलात्कार के मामले में आरोपी पर पॉक्सो के तहत मुकदमा चलाने की मांग की थी।

महिला का कहना था कि उसकी बेटी को सेरिब्रल पाल्सी है, जिसके चलते उसका मानसिक विकास नहीं हुआ है। घटना के वक़्त वो दिमागी तौर पर केवल 6 साल के बच्चे जैसी थी इसलिए उसके साथ हुए अपराध को बलात्कार के दूसरे मामलों की तरह नहीं देखा जाना चाहिए।

महिला ने ये भी कहा कि बलात्कार के बाद उसकी बेटी इतनी सहम गई कि अब उसकी दिमागी क्षमता 3 साल के बच्चे जैसी हो गई है। वो सही ढंग से मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान भी दर्ज नहीं करवा सकी।

सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए पीड़ित की मानसिक उम्र को आधार मानने से मना कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि यौन अपराध के मामले में पीड़िता की शारीरिक उम्र ही इस बात का आधार होगी कि आरोपी पर पॉक्सो लगे या न