BREAKING NEWS
Search
CAA protest

बजरडीहा भगदड़ में गिरफ्तार चार में एक आरोपित के पिता ने सदम में तोड़ा दम, पुलिस ने पुत्र को पिता के सामने नहीं लाया

163

New Delhi: सीएए और एनआरसी के विरोध में बजरडीहा में हुए बवाल के बाद गिरफ्तार किए गए ३० वर्षीय मोहम्मद नसीम के पिता 50 वर्षीय मोहम्मद सलीम की रविवार की देर रात मौत हो गयी। उन्हें सोमवार को बजरडीहा स्थित जख्खा कब्रितान में दफन किया गया। दफन करने के पूर्व  मदरसा हनिफिया गौसिया में जनाजे की नमाज अता की गई।

गौर तलब है कि 20 दिसम्बर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद बजरडीहा में सीएए और एनआरसी के विरोध में जुलूस निकाला गया था। जुलूस को छाई के पास पुलिस ने बलपूर्वक रोक दिया था। वहां बाद में लाठी चार्ज किया गया जिसमें एक 12 वर्षीय बालक की भगदड़ के दौरान दबने से  मौत हो गयी थी। इस बवाल के बाद प्रशासन ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनमें 30 वर्षीय मुर्गिया टोला ( बजरडीहा) निवासी नसीम भी शामिल था। परिजनों के अनुसार नसीम के पिता 50 वर्षीय सलीम उसी दिन से अपने बड़े बेटे के गायब होने का अंदेशा जताते हुए उसे सामने लाने की बात कर रहे थे। वे बार- बार उसे अपने सामने लाने की बात कर रहे थे। परिजनों के अनुसार नसीम के सामने नहीं लाये जाने पर पुत्र के सदमे से रविवार को मौत हो गयी। परिवार में  नसीम सबसे बड़ा है। मृत मोहम्मद सलीम की पत्नी खुशबुन्निसा की सात वर्ष पूर्व मृत्यु हो चुकी है। वह मदनपुरा में लाल कोठी के नाम से प्रसिद्ध साड़ी के प्रतिष्ठान में मजदूरी का काम करता था। उसके अन्य चार बेटे अंसार, निसार, इम्तियाज और इश्तियाख हैं। परिजनों के अनुसार बड़ा बेटा नसीम में बुनकरी का कार्य कर घर के खर्च में हाथ बंटाता था।