BREAKING NEWS
Search
tejashwi yadav weird statement toward oppositions

तेजस्वी यादव: विरोधियों को कहा चोर व बेइमान, अमर्यादित टिप्‍पणी पर बिफर पड़े CM नीतीश

143
Share this news...

Patna: नवगठित बिहार विधानसभा के पहले सत्र के आखिरी दिन नेता प्रतिपक्ष (Leader of Opposition) तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के बारे में अमर्यादित निजी टिप्पणी कर डाली। इतना ही नहीं, उन्‍होंने विरोधियों को चोर व बेइमान भी कहा। इसपर सदन में हंगामा हो खड़ा हो गया। तेजस्‍वी यादव ने चुनाव का गुस्सा विधानसभा में उतारते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निजी हमले भी किए। बच्चे गिनने और पैदा करने की बातें कई बार दोहराईं। गुस्सा इस तरह का था कि सत्ता पक्ष के एक विधायक की ओर मुखातिब होते हुए कहा- ये लोग चोर हैं, बेईमान हैं। इसके बाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भी बिफर पड़े। उन्‍होंने तेजस्‍वी को मर्यादा के पालन की नसीहत दी। यह घटना राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के क्रम में विधानसभा में हुई।

नीतीश पर बोलते हुए ‘झूठ’ शब्‍द का किया इस्‍तेमाल

तेजस्वी यादव ने जब अपना संबोधन आरंभ किया तो पहले कोरोना के मामले को लेकर कमेटी गठित करने का विषय उठाते हुए मुख्यमंत्री को घेरा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने सदन में इसपर कमेटी गठित करने की बात कही थी, पर गंभीरता नहीं दिखाई। अभी तक कमेटी गठित नहीं हुई। इस क्रम में उन्होंने झूठ शब्द का भी इस्तेमाल कर दिया। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सत्ता पक्ष की आपत्ति के बाद झूठ शब्द को कार्यवाही से हटा दिया और नेता प्रतिपक्ष को यह नसीहत दी कि झूठ की जगह असत्य शब्द का इस्तेमाल करें।

बोले: कितना शोभा देता है दूसरे के बच्चे गिनना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निजी हमला करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि चुनाव में नीतीश कुमार बच्चे गिन रहे थे। हमारे मां-बाप के बारे में कहा कि बेटा की चाह में बेटी पैदा करते रहे, जबकि हकीकत यह भी है कि मेरे दो भाइयों के बाद एक बहन भी पैदा हुई है। मुख्यमंत्री को एक बेटा है। आगे कोई बेटी पैदा न हो जाए, क्या इसी डर से उन्होंने दूसरी संतान को जन्म नहीं दिया? यह भी जोड़ा कि इन सब चीजों का जिक्र हमें पसंद नहीं। जिसकी जैसी भावना होती है, वैसा ही वह दूसरे के बारे में सोचता है। मुख्यमंत्री को कितना शोभा देता है दूसरे के बच्चों की गिनती करना।

जनादेश की चोरी कर चोर दरवाजे से आई सरकार

तेजस्वी ने कहा कि विधानसभा चुनाव में जनादेश की चोरी हुई है। यह सरकार चोर दरवाजे से आई है। इस क्रम में सत्ता पक्ष की आपत्ति पर शोर में ही उन्होंने यह कह डाला कि ये चोर हैं, बेईमान हैं। नीतीश कुमार पर किसी लेख में कंटेंट चोरी का आरोप भी लगाया। कहा कि नीतीश कुमार पर हत्या का मुकदमा भी था, जिसे रफा-दफा कर दिया गया। सृजन घोटाले की भी बात कही। तेजस्‍वी ने चेहरे की बात भी कही। कहा कि हम अपने चेहरे पर पिछली बार से दोगुनी सीट पर आए हैं। मुख्यमंत्री की पार्टी तो तीसरे नंबर पर चली गयी है।

नीतीश बोले: आगे बढ़ना है तो मर्यादा का करें पालन

विधानसभा में अपने संबोधन के दौरान मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार गुस्‍से में दिखे। उन्‍होंने तेजस्‍वी यादव को नसीहत देते हुए कहा कि अगर आगे बढ़ना है ताे मर्यादा का ध्‍यान रखें। केवल बोलने से जनता की सेवा नहीं होती है। जिसे बहुमत है, उसकी सरकार बनेगी। हमने समाज में भाइचारा कायम किया। नीतीश कुमार ने तेजस्‍वी को लेकर कहा कि वे लालू प्रसाद यादव के बेटे हैं, इसलिए कुछ नहीं कहते, लेकिन मर्यादा का पालन जरूरी है।

स्‍पीकर ने निजी टिप्पणी को कार्यवाही से हटाया

तेजस्‍वी के आपत्तिजनक व अमर्यादित बयानों पर विधानसभा में हंगामा खड़ा हो गया। इस दौरान बीच उपमुख्‍यमंत्री तार किशोर प्रसाद (Tar Kishore Prasad) ने भी तेजस्‍वी के बयान को शर्मनाक बताते हुए मर्यादा का पालन करने की नसीहत दी। विधानसभा अध्यक्ष ने यह कहा कि निजी टिप्पणी को कार्यवाही से हटा दिया जाएगा।

आरजेडी ने किया तेजस्‍वी यादव का बचाव

हालांकि, राष्‍ट्रीय जनता दल ने तेजस्वी के सदन में दिए बयान का बचाव किया है। आरजेडी नेता सुबोध राय ने कहा कि अगर कोई निजी हमला करेगा तो वे भी चुप बैठने वाले नहीं हैं। जनता दल यूनाइटेड के नेता नीरज कुमार की भाषा की याद दिलाते हुए उन्‍होंने कहा कि अभी तो और भी बहुत कुछ होना शेष है।

Share this news...