Anil Kumar

बक्सर में एम्स की स्थापना करवाना हमारा लक्ष्‍य: अनिल कुमार

222

देश और राज्‍य में चल रही है कमीशनखोरी की सरकार…

बक्सर- जनतांत्रिक विकास पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह बक्‍सर लोकसभा क्षेत्र के प्रत्‍याशी अनिल कुमार ने शनिवार को हेलीकॉप्टर से नवानगर हाइस्कूल डुमरांव, सिमरी हाई स्कूल ब्रह्मपुर, अरथू हाई स्कूल दिनारा, बन्नी राजपुर में ताबड़तोड़ जनसभाएं की और जनता से अपने चुनाव चिन्‍ह सिलाई मशीन छाप पर बटन दबा कर वोट करने की अपील की.

साथ ही उन्‍होंने बक्सर में एम्स की स्‍थापना को अपना लक्ष्‍य बताया. अपने प्रिय नेता को सुनने के लिए जबरदस्त जनसैलाब उमड़ पड़ा. इस से गदगद अनिल कुमार ने कहा कि जिस तरह से आपलोगों का भरपूर समर्थन प्राप्त हो रहा है, हम अपने बक्सर लोकसभा क्षेत्र के वासियों के उम्मीदों, आकांक्षाओ पर शत प्रतिशत खड़ा उतरने की कोशिश करेंगे.

अनिल कुमार ने कहा कि अश्विनी कुमार चौबे केंद्र में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हैं, लेकिन आज तक कोई एक ऐसा अस्‍पताल बक्सर में नहीं बनवा पाये, जहां यहां के लोग सही इलाज करवा सकें. हद तो तब हो गई, जब बक्‍सर के हिस्‍से की एम्‍स को भागलपुर लेकर चले गए. क्‍या ऐसे लोगों को आप वोट करेंगे, जो आपकी विकास योजनाओं को आपसे छीन कर कहीं और ले जा रहे हैं.

JVP Anil Kumar

जनसभा को संबोधित करते हुए JVP प्रमुख अनिल कुमार…

अनिल कुमार ने केंद्र की मोदी सरकार और राज्‍य की नीतीश सरकार को कमीशनखोरी की सरकार बताई. उन्‍होंने कहा कि आज एक काम बिना कमीशन के नहीं होता है. ये सबको पता है कि वृद्धा पेंशन, छात्रवृत्ति, विधवा पेंशन, इंदिरा आवास कोई भी सरकारी काम बिना कमीशन के नहीं होता है. इसलिए हमें इस कमीशनखोरों से आम जनों को निजात दिलाना है. उन्‍होंने कहा कि हम भ्रष्‍टाचारियों और कमीशनखोरों को चिन्हित कर कार्रवाई करेंगे.

अनिल कुमार ने किसानों की चर्चा करते हुए कहा कि बक्‍सर के किसानों को नेताओं ने सिर्फ ठगने का काम किया है. इस वजह है किसानों को खेतों में पानी मिलना मुश्किल हो गई है. उन्‍हें उचित समर्थन मूल्‍य नहीं मिल रहा है. लेकिन, आपका बेटा और आपका भाई किसानों के खेतों में पानी लाने का काम करेंगे. मलई बराज बनाने का काम करेंगे. उन्‍हें उचित समर्थन मूल्‍य दिलवायेंगे. यही हमारा लक्ष्‍य है. इसलिए आप बक्‍सर के विकास के लिए अपने बेटे को वोट करें.

JVP Rally

Janmanchnews.com

इस मौके पर संजय मंडल, मोहन राम, डॉ. रामराज भारती, मंटू पटेल, आशुतोष पांडे, संतोष यादव, मोहन गुप्ता, राजा यादव, सुविदार दास, रामाधार राम, रमेश राम, बैजनाथ राम, बीरेंद्र सिंह, अरुण सिंह, चंद्रशेखर सिंह, सुकर राम के साथ हजारों की संख्या में कार्यकर्ता के साथ जन समूह मौजूद थे.