imran khan

इमरान खान ने कबूला, पाकिस्‍तानी फौज ने अल कायदा को अफगानिस्तान में लड़ने के लिए दी ट्रेनिंग

194

न्‍यूयॉर्क। अमेरिका में पाकिस्तान के प्रधनमंत्री इमरान खान ने एकबार फ‍िर पाकिस्‍तानी सेना और जासूसी एजेंसी आईएसआई की झूट पर से परदा उठा दिया ।

इमरान ने कबूला है कि पाकिस्‍तानी फौज और उनके मुल्‍क की जासूसी एजेंसी आईएसआई दोनों अल कायदा एवं अन्य आतंकी समूहों को अफगानिस्तान में लड़ने के लिए ट्रेनिंग दी जाती थी। यही नहीं पाकिस्‍तानी आर्मी और आईएसआई दोनों के संबंध अल कायदा एवं अन्य आतंकी समूहों से थे।

न्यूयॉर्क में थिंक टैंक काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस (CFR) के एक कार्यक्रम में सोमवार को यह पूछे जाने पर कि क्‍या पाकिस्‍तान ने इस बात की जांच कराई थी कि ओसामा बिन लादेन पाकिस्‍तान में कैसे रह रहा था।

इमरान खान ने पाकिस्‍तानी सेना और अल कायदा की पोल खोलते हुए कहा कि अफगानिस्‍तान में लड़ रहे अल कायदा और अन्‍य दूसरे आतंकी संगठनों के संबंध पाकिस्‍तानी फौज और मुल्‍क की जासूसी एजेंसी आईएसआई से रहे हैं क्‍योंकि दोनों ने ही इन्‍हें अफानिस्‍तान में लड़ने के लिए प्रशिक्ष‍ित न्यूयॉर्क में थिंक टैंक काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस (CFR) के एक कार्यक्रम में सोमवार को यह पूछे जाने पर कि क्‍या पाकिस्‍तान ने इस बात की जांच कराई थी कि ओसामा बिन लादेन पाकिस्‍तान में कैसे रह रहा था।

इमरान खान ने पाकिस्‍तानी सेना और अल कायदा की पोल खोलते हुए कहा कि अफगानिस्‍तान में लड़ रहे अल कायदा और अन्‍य दूसरे आतंकी संगठनों के संबंध पाकिस्‍तानी फौज और मुल्‍क की जासूसी एजेंसी आईएसआई से रहे हैं क्‍योंकि दोनों ने ही इन्‍हें अफानिस्‍तान में लड़ने के लिए ट्रेनिंग दिया था।

इमरान खान ने कहा कि जब हमने इन आतंकी संगठनों से मुंह मोड़ने का काम शुरू किया तो पाकिस्‍तान में कोई भी हमारे फैसले से सहमत नहीं था। यही वजहें रही कि पाकिस्‍तान को भी आतंकी हमलों का शिकार होना पड़ा। हालांकि इमरान ने लादेन के एबटाबाद में छिपकर रहने के बारे में तत्‍कालीन पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख और आईएसआई चीफ का बचाव भी किया।

उन्‍होंने अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान की सेना को इस बात की भनक नहीं थी कि लादेन एबटाबाद में रह रहा है। इमरान खान ने कहा कि जहां तक मुझे जानकारी है कि पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख और आईएसआई चीफ को भी यह उम्‍मीद नहीं थी कि लादेन एबटाबाद में रहा रहा है।

ओसामा बिन लादेन के एबटाबाद में छिपकर रहने के बारे में यदि किसी को कोई जानकारी रही भी होगी तो वह बेहद निचले स्‍तर पर रही होगी। इमरान से यह पूछे जाने पर कि पूर्व अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्‍स मैटिस ने पाकिस्‍तान को दुनिया का सबसे खतरनाक मुल्‍क करार दिया था इस पर आपका क्‍या कहना है…

Reviews

  • 10
  • 2

    Score

User Rating: 0 ( 0 Votes )