critical disease

बच्चे के उपचार एवं परिवार का पेट भरने के लिये पिता भीख मांगने को मजबूर…विडियों भी देखें

325
Mithiliesh Pathak

मिथिलेश पाठक

श्रावस्ती। गरीबी और तंगहाली से जूझ रहा है एक असहाय पिता। बच्चे के उपचार और परिवार का पेट भरने के लिए भीख मांग कर एकत्रित कर रहा पैसा। पड़ोसी जिले बहराईच थाना मोतीपुर के हसलुइया गांव निवासी मोहम्मद सलाम की माली हालत बेहद दयनीय है।

अपने 10 वर्षीय बच्चे कैश के निकले पेट के इलाज के लिए नेताओं के दरवाजे पर भी लगाई गुहार, परन्तु धन इकट्ठा न हो पाने पर पूरी तरह टूट कर गांव गांव तमाशा दिखाता भीख मांगता फिर रहा है। 

देखें विडियों में एक पिता का दर्द….

उत्तर प्रदेश की बागडोर पिछले वर्ष जब योगी के हाथों में आई थी तो सबको उम्मीद जगी थी विकास और परिवर्तन की। क्योंकि सबका साथ सबका विकास का वादा किया गया था। असाध्य रोगों के लिए भी योजनाएं बनाई गई हैं परंतु इस परिवार को न तो योजना का ही लाभ मिल पा रहा है न ही परिवार की मनोदशा समझने वाला ही कोई है।

आस पास के जिलों के गांवों में तमाशा दिखाते हुए चंद चन्द पैसे बटोर रहै पिता को यह उम्मीद है कि किसी न किसी दिन इसके भी दिन बदलेंगे और उसके जिगर के टुकड़े का इलाज होगा जिससे उसे रोग से मुक्ति मिल जाएगी। सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या इस परिवार को योगी के शासन में न्याय मिल पाता है या नहीं।