patna flood sushil modi

थमी आफत की बारिश: हेलीकॉप्‍टर से गिराए जा रहे फूड पैकेट्स, एरियल सर्वे पर CM नीतीश

296

पटना। बिहार में 60 घंटे की लगताार आफत की बारिश के बाद अब राहत के आसार हैं। राज्‍य में फिलहाल बारिश का खतरा टल गया है। पटना सहित कई जगहों पर मौसम साफ होता दिख रहा है। इस बीच पहले की बारिश के कारण जलमग्न इलाकों में राहत व बचाव कार्य तेज हो गए हैं। राहत व बचाव में मदद के लिए केंद्र सरकार ने वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर उपलब्‍ध करा दिए हैं। इसके बावजूद अनेक प्रभावित इलाकों में पीने का पानी तक उपलब्‍ध नहीं है। इससे प्रभावित लोगों में नाराजगी है।

भारी बारिश के कारण राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में परिवार के साथ फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी काे प्रशासन ने वहां से निकाल लिया। उधर, लोक गायिका शारदा सिन्‍हा भी राजेंद्र नगर स्थित अपने घर में फंसी थीं,  जिन्‍हें एनडीआरएफ की एक टीम ने बाहर निकाला। इस बीच मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार प्रभावित इलाकों का एरियल सर्वे कर रहे हैं। इसके बाद वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर प्रभावित जिलों के डीएम से रिपोर्ट लेंगे। इस बीच हेलीकॉप्‍टर से फूड पैकेट्स गिराए जाने लगे हैं।


जगह-जगह जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित

विदित हो कि भारी बारिश के कारण पटना सहित बिहार में जगह-जगह जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। सड़क व रेल यातायात भी प्रभावित हुए हैं। पूरे बिहार में अब तक बाढ़ और बारिश के कारण 29 लोगों की जानें चलीं गईं हैं। उधर, गंगा समेत सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर हैं।

पटना में याद आई 1975 की बाढ़

पटना में करीब 45 साल बाद ऐसा जल-जमाव देखने को मिला है। इसने 1975 की बाढ़ की याद दिला दी है, जब पटना डूब गया था। सड़काें पर नाव चल रही है और लोग घरों के घरों तथा अस्‍पतालों तक में पानी घुस गया है।


पटना के राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, लंगर टोली, बहादुरपुर, गर्दनीबाग, सरिस्ताबाद, चांदमारी रोड, पोस्टल पार्क, इंदिरानगर, संजय नगर, अशोक नगर, बोरिंग रोड, पाटलिपुत्र कॉलोनी, श्रीकृष्णापुरी, राजीवनगर, रामकृष्णानगर, संदलपुर, दीघा व कुर्जी आदि इलाकों में जगह-जगह जल-जमाव हो गया है। हालत यह हो गई है कि कई जगह जिला प्रशासन की ओर से नौका परिचालन किया जा रहा है। पटना में कुछ इलाकों में यातायात पूरी तरह से ठप है। नगर के प्रभावित इलाकों में घंटों से बिजली आपूर्ति नहीं कर जा रही है।

पटना में रहने वाले मंत्रियों के घरों में भी पानी घुस गया है। राजेंद्र नगर स्थित राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और नागेश्वर कॉलोनी स्थित भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी के घरों में दो से तीन फीट तक बारिश का पानी घुस गया है। नेताजी मार्ग स्थित नंदकिशोर यादव, मंत्री प्रेम कुमार आदि के सरकारी आवास भी पानी में डूबे हैं। शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद तथा परिवहन मंत्री संतोष निराला के घर में भी पानी है। नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, जिनपर नगर की साफ-सफाई, जन-निकासी और विकास की जिम्मेदारी है, के घर में भी पानी घुस गया है।

उपमुख्‍यमंत्री को किया रेस्‍क्‍यू

बारिश थमने के बाद राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी को एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने नाव पर बैठा कर किनारे छोड़ा। इसके बाद वे अपने सरकारी आवास गए।


पटना पहुंचे वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर

बिहार सरकार ने पटना के प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव के लिए वायुसेना से दो हेलीकॉप्‍टर मंगाए हैं। इनके माध्‍यम से फंसे लोगों को निकाला जाएगा तथा फूड पैकेट्स व दवाएं पहुंचायी जाएंगी।

चिकित्सा व्यवस्था पर पड़ा असर

जल-जमाव के कारण पटना में चिकित्सा व्यवस्था पर असर पड़ा है। पटना मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (पीएमसीएच) में पानी भर गया है। अस्‍पताल के मेडिसिन वार्ड तक में पानी घुसा हुआ है। यही हाल पटना के दूसरे बड़े अस्‍पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (एनएमसीएच) का भी है। वहां वार्ड में पानी भर गया है। मरीजों का इलाज उसी हालत में हो रहा है। इस कारण अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों व अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के मरीजों तक पहुंचने में भी परेशानी हो रही है।