BREAKING NEWS
Search
vaishya mahasammelan

मंगल पांडेय ने कहा, वैश्य समाज को राजनीतिक ताकत की जरूरत, अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन विद्यापति भवन में सम्पन्न

64
Share this news...

पटना। रविवार को विद्यापति भवन में अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन, बिहार इकाई के तत्वावधान में बिहार पंचायत चुनाव जिला स्तरीय चर्चा का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता महासम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता ने किया। मंच का संचालन महिला प्रभारी सरोज जायसवाल एवं वरिष्ठ महामंत्री पंकज केसरी ने किया। जबकि अतिथियों का स्वागत भाषण आलोक शाह ने किया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि तथा उद्घाटनकर्ता बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को डॉ. गुप्ता ने बुके, शॉल तथा अयोध्या के राम मंदिर का मोमेंटो प्रदान किया। कार्यक्रम में महिला अध्यक्षा कृष्णा शगुन ने अतिथियों के समक्ष राष्ट्रगान प्रस्तुत किया।

जन्म से वैश्य नहीं, लेकिन कर्म से वैश्य हूं…

इस मौके पर मुख्य अतिथि मंत्री मंगल पांडेय ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे वैश्य शब्द से बचपन से ही प्रेम है। जन्म से भले वैश्य नहीं हूं, लेकिन कर्म से वैश्य हूं। मैं जन्मजात व्यापारी हूं। इसलिए वैश्य समाज की कठिनाईयों और परेशानियों को जानता और समझता हूं। उन्होंने कहा कि वैश्य समाज को राजनीतिक ताकत की जरूरत है, क्योंकि इस समाज की सबसे प्रासंगिक विषय राजनीति है, जिसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद वैश्यों की हैसियत राजनीति में बढ़ी है।

उन्होंने कहा, पंचायत चुनाव मई में होने जा रहे हैं। इस चुनाव में वैश्य समाज जितना बेहतर तरीके से एकत्रित होगा, परिणाम उतना ही शानदार दिखेगा। इसलिए गांव की सरकार बनाने में वैश्य समाज को बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी निभाने की जरूरत है और अधिसंख्य संख्या में वैश्य समाज के लोग निर्वाचित होकर पंचायत-गांव आदि का प्रतिनिधित्व करें। उन्होंने आगे कहा कि बिहार सरकार ने वैश्य समाज के 12-13 उपजातियों को अतिपिछड़ा वर्ग में रखकर आरक्षण देने का काम किया है ताकि आप भी चुनाव में निर्वाचित होकर राजनीति में अपनी भागीदारी निभा सकें।

राजनीति के क्षेत्र में भी आगे आना चाहिए…

वहीं अध्यक्षीय भाषण में प्रो. जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता ने कहा कि भाजपा में आने का श्रेय मंत्री मंगल पांडेय का ही है। उन्हीं के प्रेरणा से मैं भाजपा में आया हूं। डॉ. गुप्ता ने कहा कि वैश्य समाज के लोग संगठित होकर भाजपा को मजबूत करने का हरदम प्रयास करता रहा है। उसी का परिणाम है कि भाजपा में वैश्य समाज को सम्मान मिलता रहा है और आगे भी मिलता रहेगा। डॉ. गुप्ता ने आगे कहा कि वैश्य समाज के लोगों को राजनीति के क्षेत्र में भी आगे आना चाहिए और अपने अधिकार के लिए संघर्ष करते रहना चाहिए।

वरिष्ठ उपाध्यक्ष रौशन कुमार ने बिहार पंचायत चुनाव जिला स्तरीय चर्चा पर प्रकाश डाला और आगे की रणनीति पर अपना विचार रखा। वहीं उपाध्यक्ष ज्योति सोनी ने महिलाओं को संगठित होकर समाज में काम करने के लिए प्रेरित किया। वहीं उपाध्यक्ष अवधेश कुमार भक्त तथा चितरंजन महतो ने बिहार में वैश्य समाज के उपेक्षा पर दुख प्रकट किया तथा आगामी सरकार में भागीदारी के लिए मांग रखी। वक्ताओं में प्रिंस कुमार, सत्यनारायण अग्रवाल, विपिन पराशर, सुनील कुमार गुप्ता, सुनील जयसवाल, सुमन मंशा, अभिषेक रंजन मोंटी, आशा देवी, सरोज कुमार साह, वीना मानवी, अशोक कुमार चौधरी एवं जिला के कई अध्यक्षों ने अपना-अपना विचार रखा तथा वैश्य समाज को राजनीति में जागरुक होने के लिए आह्वान किया।

सड़क पर आकर संघर्ष करेंगे तभी हम मिलेगा…

वहीं कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. अजय प्रकाश, राजेश्वर प्रसाद राजेश, प्रिंस कुमार राजू, वरुण प्रकाश संतोष जायसवाल तथा डॉ. बी. नायक ने भी कार्यक्रम के माध्यम से वैश्यों को एक होकर समाज के मजबूती के लिए आगे आने का आह्वान किया। लोगों ने कहा कि वैश्य समाज के लोग जब तक सड़क पर आकर संघर्ष नहीं करेंगे, वैश्य समाज को कुछ मिलने वाला नहीं है। वक्ताओं में प्रिंस कुमार, सत्यनारायण अग्रवाल, विपिन पराशर, सुनील कुमार गुप्ता, सुनील जायसवाल, सुमन मंशा जी, अभिषेक रंजन मोंटी, आशा देवी, सरोज कुमार साह, वीना मानवी, अशोक कुमार चौधरी एवं जिला के कई अध्यक्षों ने अपना-अपना विचार रखा तथा वैश्य समाज को राजनीति में जागरूक होने के लिए आह्वान किया।

कार्यक्रम में कई प्रस्ताव लाए गए…

कार्यक्रम में कई प्रस्ताव लाए गए। जिसमें राज्यपाल कोटे से कम से कम तीन एमएलसी बोर्ड व निगम में वैश्यों का उचित भागीदारी, आगामी मंत्रिमंडल विस्तार में कम से कम 2 और वैश्य मंत्री तथा व्यवसायिक आयोग का गठन की भी मांग रखी गई। कार्यक्रम में 39 जिला के प्रतिनिधि शामिल थे। धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ महामंत्री रामबाबू प्रसाद गुप्ता ने किया।

Share this news...