BREAKING NEWS
Search
प्रवासी भारतीय दिवस

पीएम मोदी नें प्रवासी भारतीय दिवस के मंच से भी साधा कांग्रेस पर निशाना

1113
Share this news...

प्रवासी भारतीय दिवस हर प्रकार से गैर राजनीतिक कार्याक्रम है लेकिन इसके मंच से भी प्रधानमंत्री नें राजीव गांधी के एक वक्तव्य को निशाने पर लेकर कांग्रेस पर हमला किया…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

वाराणसी: प्रवासी भारतीय दिवस हर प्रकार से गैर राजनीतिक कार्याक्रम रहा है, इसके माध्यम से सरकारों की कोशिश रहती है कि वो अप्रवासी भारतीयों को भारत में निवेश करने के लिये उत्साहित कर सकें। लेकिन आज वाराणसी में 15वे प्रवासी भारतीय दिवस का उद्घाटन करने पहुंचे नरेंद्र मोदी ने इस सम्मेलन के बहाने कांग्रेस पर निशाना साधकर अप्रवासियों के इस विशिष्ट मंच को भी चुनावी अखाड़ा बना दिया। सिस्टम में फैले भ्रष्टाचार को लेकर किये गए राजीव गांधी के बयान को दोहराते, उन्होंने कहा कि शायद उस सरकार में इच्छा शक्ति नहीं थी जो उसने यह कार्य नहीं किया। हमने उस सिस्टम में मौजूद 80 प्रतिशत लूट को 100 प्रतिशत खत्म किया है और ये जनता के सहयोग से संभव हुआ है।

प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम लिए बिना कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के वकतव्य कि हमारी सरकार दिल्ली से एक रुपया अगर जनता के लिए भेजती है तो सिर्फ 15 पैसे ही जनता तक पहुँच पाता है के वकतव्य को दोहराते हुए और बिना राजीव गांधी का नाम लिए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री के इस वकतव्य को भी उनकी सरकारों ने गंभीरता से नहीं लिया और 70 सालों में कुछ नहीं बदला, जिसे हमने साढ़े चार साल में इच्छा शक्ति से बदल दिया। हमने टेक्नोलोजी के इस्तेमाल से इस लूट को खत्म किया है। व्यवस्थाओं में बदलाव कर साढ़े चार लाख करोड़ रूपये बचाए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इतने वर्ष तक देश पर जिस पार्टी ने शासन किया, उसने देश को जो व्यवस्था दी थी, उस सच्चाई को उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए स्वीकारा था।’ उन्होंने कहा कि ‘अफसोस यह रहा कि बाद के अपने 10-15 साल के शासन में भी इस लूट को, इस लीकेज को बंद करने का प्रयास नहीं किया गया। देश का मध्यम वर्ग ईमानदारी से टैक्स देता रहा और जो पार्टी इतने सालों तक सत्ता में रही, वह इस 85 प्रतिशत की लूट को देखकर भी अनदेखा करती रही। हमने टेक्‍नॉलजी का इस्तेमाल करके इस 85 प्रतिशत की लूट को 100 प्रतिशत खत्म कर दिया है।’

प्रधानमंत्री यही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि ‘बीते साढ़े चार वर्षों में 5 लाख 78 हजार करोड़ रुपए यानी करीब-करीब 80 बिलियन डॉलर हमारी सरकार ने अलग-अलग योजनाओं के तहत सीधे लोगों को दिए हैं, उनके बैंक खाते में ट्रांसफर किए हैं। अब आप अंदाजा लगाइए, अगर देश पुराने तौर तरीकों से ही चल रहा होता, तो आज भी इस 5 लाख 78 हजार करोड़ रुपए में से 4 लाख 91 हजार करोड़ रुपए लीक हो रहा होता।

Share this news...