चोर

जो काम पुलिस ना कर सकी वो खुद वाहन मालिक ने कर दिखाया…

185
Yuvraj SIngh

युवराज सिंह

प्रतापगढ़। हफ्ते भर पहले घर से चोरी गई मैजिक को चोर के साथ बरामद करके मैजिक मालिक ने पुलिस को आइना दिखाया है। मैजिक मालिक का मुखबिर तंत्र पुलिस के सर्विलांस से तेज निकला।

दरअसल, नगर कोतवाली क्षेत्र के रूपापुर गांव निवासी मधुसूदन शर्मा सरिया सीमेंट के थोक विक्रेता है। 14 जुलाई को मधुसूदन के छोटे भाई की सगाई इलाहाबाद में थी। दिन में लगभग तीन बजे वह पूरे परिवार के साथ इलाहाबाद चले गए थे। इसी बीच घर के पास खड़ी उनकी मैजिक (टाटा ऐस) चोरी हो गई थी।

वह शाम को इलाहाबाद से लौटें तो उन्हें मैजिक के चोरी होने की जानकारी हुई। आसपास के लोगों से पूछने पर कुछ पता नहीं चला। मैजिक में जीपीएस लगा था। उन्होंने ट्रेस किया तो मैजिक की आखिरी लोकेशन सुल्तानपुर जिले में मिली।


अगले दिन यानी 15 जुलाई को उन्होंने कोतवाली में तहरीर दी, लेकिन मुकदमा 16 जुलाई को लिखा गया। उन्हें दुकान पर काम करने वाले पल्लेदार दिनेश दुबे पर शक था। क्योंकि उसी दिन के बाद से वह शहर में नहीं दिख रहा था। 14 जुलाई को पल्लेदार दुकान पर ही था। उन्होंने पुलिस को पल्लेदार का मोबाइल नंबर देकर उसकी लोकेशन ट्रेस करने की बात कही, लेकिन पुलिस मुकदमा दर्ज करके शांत होकर बैठ गई।

पुलिस से निराश होकर मधुसूदन ने अपना मुखबिर तंत्र सक्रिय किया। शुक्रवार को देर रात उन्हें दिनेश का लोकेशन फैजाबाद जिले के नगर कोतवाली क्षेत्र के उसरूपुर मोहल्ले में मिला। तीन-चार लोगों के साथ मधुसूदन रात साढ़े तीन बजे उसरूपुर मोहल्ले के लोगों से दिनेश के बारे में पूछा, लेकिन कोई कुछ नहीं बता सका।

इसके बाद वह उसरूपुर में पेट्रोल पंप के स्थित मंदिर पर माथा टेकने गए तो उन्हे ट्रक की आड़ में मैजिक खड़ी दिख गई। पास गए तो देखा कि दिनेश मैजिक के अंदर सो रहा था। उसने मैजिक का बंफर आदि बेच दिया था। इसलिए मैजिक का हुलिया बदल गया था।

इसके बाद मधुसूदन मैजिक समेत दिनेश को पकड़कर घर ले आए। दिनेश दुबे पुत्र भवानी प्रसाद दुबे कटका, सुल्तानपुर जिले का रहने वाला है। उसका परिवार दिल्ली में रहता है और वह यहां सदर मोड़ पर किराए के मकान में रहता है। वह चौक, सदर बाजार, रूपापुर में घूम-घूमकर पल्लेदारी करता है।

घर आने के बाद मधुसूदन ने सिविल लाइन चौकी प्रभारी को जानकारी दिया। चौकी प्रभारी सुशील मिश्रा शाम को रूपापुर गए और दिनेश को पकड़कर मैजिक कोतवाली ले गए। इस तरह मधुसूदन ने खुद के प्रयास से चोरी गई अपनी मैजिक को बरामद करने के साथ चोर को भी सामने लाकर खड़ा कर दिया।

रेलवे स्टेशन से ढूढ़ निकाली गई चोरी वाली बाइक

मधुसूदन शर्मा की तरह राहुल यादव ने भी खुद के प्रयास से चोरी गई। अपनी बाइक को रेलवे स्टेशन से ढूढ़ निकाला। शहर में स्टेट बैंक के बगल लक्ष्मी कांप्लेक्स में रहने वाले राहुल की बाइक 17 जुलाई को स्टेट बैंक के बगल वाली गली से चोरी हो गई थी। राहुल बाइक की तलाश में 18 जुलाई को रेलवे स्टेशन पहुंचा तो उसे अपनी बाइक स्टैंड में खड़ी दिखी।

उसने स्टैंड संचालक के साथ ही पुलिस को जानकारी दी। थोड़ी देर बाद मकंद्रूगंज चौकी प्रभारी सिपाहियों के साथ पहुंचे। इतने में तीन युवक बाइक के पास पहुंचे और उसे स्टार्ट करने लगे। राहुल ने टोका तो उससे भिड़ गए। इतने में पुलिस ने तीन युवक राहुल निवासी बलीपुर, संदीप निवासी सराय, संतोष कुमार निवासी संसारपुर को पकड़ लिया। इस तरह राहुल ने अपनी बाइक बरामद करने के साथ चोरों को पुलिस के सामने ला दिया।