BREAKING NEWS
Search
Patna Gang rape

यह पटना है जनाब! यहां थाने में माेबाइल पर बात करता अपराधी, फरियादी को गाली देती पुलिस

302

Patna: बिहार के लिए यह चिंताजनक हकीकत है। पटना में अपराध कोई नई बात नहीं, लेकिन नए साल में लगातार लूट, हत्‍या व दुष्‍कर्म की घटनाओं से राजधानी शर्मसार है। पुलिस की बात करें तो इन घटनाओं में शामिल दुष्‍कर्म के एक आरोपित का पाटलिपुत्र थाना में बैठकर मोबाइल से बात करता वीडियो वायरल हो गया है। उधर, बिक्रम थाना क्षेत्र में लड़की के अपहरण के एक मामले में उसके भाई के फोन करने पर गुस्‍साए थानाध्‍यक्ष की गालियों भरी बातचीत का ऑडियो भी वायरल हो रहा है।

पटना में दो दिनों के भीतर दो लड़कियों से दुष्‍कर्म

पटना में पुलिस-प्रशासन को चुनौती देते हुए बेखौफ अपराधियों ने आठ दिनों में ताबड़तोड़ लूट की आधा दर्जन वारदातों को अंजाम दिया। इनकी आग अभी ठंडी भी नहीं हुई कि बीते छह जनवरी को पटना के अति सुरक्षित व भीड़-भाड़ वाले इलाके बोरिंग रोड से एक लड़की का अपहरण कर उसके साथ दुष्‍कर्म किया गया। इस वारदात के आरोपितों को गिरफ्तार कर स्‍पीडी ट्रायल चला सजा दिलाने के पुलिसिया दावों की हवा बीती रात भी तब निकल गई, जब बिहटा में एक और लड़की के साथ ऐसी ही वारदात हो गई।

पिस्‍टल के बल पर सरेआम अगवा कर किया गंदा काम

बिहार के गोपागंज जिले की रहने वाली तथा पटना के एक गर्ल्‍स हॉस्‍टल में रहकर प्रबंधन की पढ़ाई कर रही पीड़ित लड़की ने बताया कि वह सोमवार की रात बोरिंग रोड के जीबी मॉल स्थित रेस्टोरेंट में गई थी। वहां से लौटते वक्‍त पार्किंग एरिया में संदीप ने पिस्‍टल के बल पर उसे अगवा कर सीसे पर ब्‍लैक फिल्‍म लगी कार में बिठा लिया। कार में छेड़छाड़ के बाद उसे पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र एक फ्लैट में ले जाकर संदीप ने दुष्‍कर्म किया।

इस दौरान आरोपितों ने उसका वीडियो भी बना लिया तथा घटना की जानकारी किसी को देने पर वीडियो वायरल कर देने की धमकी दी।

पीड़ित लड़की ने महिला थाने में विनायक सिंह, कुश, संदीप मुखिया और विकास नामक चार युवकों के खिलाफ दुष्कर्म की एफआइआर दर्ज कराई। पुलिस ने घटना के दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि मुख्‍य आरोपी विनायक सिंह ने बुधवार को पुलिस को चकमा देकर कोर्ट में सरेंडर कर दिया। वहीं एक संदीप अभी भी फरार है।

अगले दिन बिहटा में भी लड़की के साथ किया हैवानियत

लड़की को अगवा कर दुष्‍कर्म का यह मामला गर्म ही है कि मंगलवार की रात ऐसी एक और वारदात सामने आ गई। पटना के फुतहा स्टेशन के पास एक युवती से नौकरी का झांसा देकर दुष्‍कर्म किया गया। शेखपुरा की दो बहनों को एक युवक नौकरी का  झांसा देकर फतुहा स्टेशन पर लाया। फिर, एक बहन को स्टेशन पर बैठा कर दूसरी को चाय पीने के बहाने स्टेशन से बाहर गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। युवती किसी तरह उसके चंगुल से निकल कर फतुहा रेल थाना पहुंची।

थाने में मोबाइल से बातचीत करता दिखा गिरफ्तार आरोपित

लड़की को अगवा कर पटना के पाटलिपुत्र इलाके में हुए दुष्‍कर्म कांड का शर्मनाक पहलू यह भी है कि मंगलवार को इसके गिरफ्तार आरोपित कुश का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें उसे थाना में ठसक के साथ बैठकर मोबाइल से बातचीत करते देखा जा रहा है। पुलिस फिलहाल इस वीडियो को लेकर कुछ नहीं बोल रही, लेकिन बताया जा रहा है कि यह थानाध्‍यक्ष के कमरे का है।

फरियादी पर दारोगा ने कर दी गालियों की बरसात

उधर,पटना के ही विक्रम थाना क्षेत्र में एक लड़की के अपहरण के मामले में पीपुल फ्रेंडली पुलिस का चेहरा फिर उजागर हुआ है। अपहृत लड़की के भाई ने जब थानाध्‍यक्ष ऋतुराज को फोन किया तो उन्‍होंने आपा खो दिया। फिर तो फोन पर गालियों की बरसात कर दी। दारोगा ने फरियादी के परिवार के संस्‍कार तथा अपहृत लड़की के चरित्र पर सवाल उठाए तथा मामले को नौटंकी करार दिया। दारोगा व फरियादी की बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया है। इस बाबत दारोगा ने कहा कि हो सकता है कि उसने गुस्‍से में कोई बात कह दी हो, लेकिन मामले मेंं पुलिस अपना काम कर रही है।

वायरल वीडियो व ऑडियो ने खड़े किए कई सवाल

अगर वीडियो फेक नहीं है तो कई सवाल खड़े होते हैं। क्‍या आरोपित की बातचीत पुलिस की मौजूदगी में हो रही थी? अगर हां, तो क्‍यों?  अगर नहीं तो संवेदनशील सूचनाओं से भरे थानाध्‍यक्ष के कमरे में उसे अकेला क्‍यों छोड़ा गया?  मोबाइल पर अगर आरोपित ने किससे और क्‍या बात की?  क्‍या उसने अन्‍य आरोपितों से संपर्क कर उन्‍हें महत्‍वपूर्ण जानकारियां दे दीं?  कई सवाल हैं, जिनके जवाब देने होंगे। वैसे घटना के एक फरार आरोपित का वीडियो भी वायरल हो गया है, जिसमें वह शराब पीते हुए नजर आ रहा है। अगर यह वीडियो भी फेक नहीं है तो यह पटना में शराबबंदी की हकीकत बयां कर रहा है। इसी तरह ऑडियाे ने भी यह सवाल खड़ा किया है कि क्‍या यही है पटना की पीपुल फ्रेंडली पुलिस?