BREAKING NEWS
Search
Narendra modi with nitish kumar

PM मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ पर बिहार में सियासत तेज, CM नीतीश ने कहा-हम साथ हैं

409

New Delhi: कोरोना वायरस (Corona virus) जैसी ‘महामारी’ से बचने के लिए 22 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनता कर्फ्यू के ऐलान के बाद बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। राजद ने इसे पूरी तरह नौटंकी करार दिया है तो वहीं भाजपा ने इसे लेकर राजद पर पलटवार किया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई को केंद्र व राज्य सरकार को मिलकर लडऩा है।

राजद ने जनता कर्फ्यू को बताया नौटंकी

प्रधानमंत्री मोदी के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के एलान को राजद ने नौटंकी करार दिया है। पार्टी के नेता सुबोध राय ने कहा प्रधानमंत्री मोदी का जनता कर्फ्यू का एलान नौटंकी के सिवा कुछ नहीं है। जहां दुनिया आज चांद पर जा रही है, वहीं लोगों को थाली पीटने को कहा जा रहा है। यह एक इवेंट के अलावा कुछ नहीं है। देश की खराब होती अर्थव्यवस्था को छिपाने का एक प्रयास है।

भाजपा ने राजद को बताया राजनीति का कोरोना

राजद के बयान पर भाजपा ने भी पल टवार किया है औऱ राजद को राजनीति का करोना करार दिया। पार्टी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा सार्थक फैसला लिया है, जिससे कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में मदद मिलेगी। एेसे वक्त में राजद का यह बयान बेहद शर्मनाक है। राजद के पास संवेदनशीलता नाम की कोई चीज ही नहीं।

जदयू ने राजद पर कसा तंज-खत्म हो जाएगी ये पार्टी

वहीं, जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने भी राजद पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह सुधरने वाली पार्टी नहीं है।ऐसे समय में ऐसा बयान देना बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने भावनात्मक अपील की है। कोरोना से लड़ने के लिए अब सबको साथ आना होगा। आने वाले दिनों में आरजेडी का नामोनिशान खत्म हो जाएगा।

राजद नेता शिवानंद तिवारी ने भी बताया था नौटंकी

22 मार्च को पीएम मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान को राजद के वरिष्ठ नेता शिवानन्द तिवारी ने भी नौटंकी करार दिया था। उन्होंने कहा था कि यह सब बेवजह का किया जा रहा है और बस नौटंकी है। इससे कोरोना ठीक नहीं होगा। वहीं पार्टी के विधायक भोला यादव ने भी इसे अघोषित आपातकाल कहते हुए विरोध किया है।

सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी से कहा-एेसे वक्त हम साथ हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी जंग की रणनीति पर विमर्श किया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान पीएम ने सुझाव मांगा कि कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में  और किस तरह के काम होने चाहिए।

मुख्यमंत्री ने शनिवार की सुबह इस बाबत स्वास्थ्य मंत्री, मुख्य सचिव व स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव सहित अन्य आला अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई और केंद्र से मांगी जाने वाली मदद पर चर्चा की। इस संबंध में शनिवार को ही पत्र केंद्र को भेज दिया जाएगा।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने सामाजिक स्तर पर दूरी रखने और होम आइसोलेशन की बात पर अधिक जोर दिया। उन्होंने क्वांरटाइन सेंटर व अस्पताल के हालात भी पूछे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस लड़ाई को केंद्र व राज्य सरकार को मिलकर लडऩा है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के संबंध में आला अधिकारियों के साथ एक फीडबैक बैठक भी की। इस क्रम में रविवार को होने वाले जनता कर्फ्यू पर भी विमर्श हुआ।