Ponty Chadda

शराब टॉयकून पोंटी चड्डा की फर्म पर यूपी एक्साइज मिनिस्ट्री नें ठोंका 53 करोड़ रुपये का दावा

252

यूपी सरकार अवैध शराब व्यापार और तस्करी पर लगाम लगाने के लिए नई शराब नीति अगले महीनें लागू कर रही है…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

लखनऊ: उत्पाद शुल्क और निषेध मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार ने शराब व्यापारी पोंटी चड्ढा के परिवार की स्वामित्व वाली कंपनी एक्युरेट फूड्स एंड बेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड पर 53 करोड़ 91 लाख रुपये का बकाया होने का दावा करते हुये राशि को विभागीय खाते में जमा करने को नोटिस जारी किया है। पोंटी चड्डा 17 नवंबर 2012 में दिल्ली में मारे गए थे।

उत्पाद शुल्क मंत्री जय प्रताप सिंह ने मेरठ क्षेत्र में कंपनी के स्वामित्व वाली 453 दुकानों को किस्त जमा नहीं करने के लिए फटकारा है और 6 जनवरी 2018 तक राशि जमा करने के लिए समय दिया है।

जनमंच से विशेष रूप से बोलते हुए, मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा, “एक्साइज विभाग ने 2009 से पूरे मामले की समीक्षा की है और पाया है कि 453 दुकानें इस क्षेत्र में संचालित की जा रही हैं, जहां लोग किसी न किसी तरह से शराब का सेवन कर रहे हैं।

इसलिए, कंपनी यह नहीं कह सकती कि दुकानों को नहीं चलाया जा रहा है। आगे की जांच से पता चला है कि विभाग का कंपनी पर 53 करोड़ 91 लाख रुपये का बकाया है, जिसका भुगतान करना होगा।”

इस मुद्दे पर बोलते हुए मंत्री ने कहा, “मेरठ क्षेत्र में 453 घरेलू शराब अनुबंध हैं। 226 रुपये प्रति लीटर (थोक) के मुताबिक, लगभग 53 करोड़ 91 लाख कंपनी पर बकाया है। नोटिस 30 दिसंबर, 2017 को कंपनी को भी भेज दिया गया है। अगर कंपनी राशि जमा करने में विफल हो जाती है तो सरकार को आगे की कार्रवाई करनी होगी।”

बताते चलें कि राज्य में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार अगले महीने अवैध शराब व्यापार और तस्करी की जांच के लिए राज्य के लिए एक नई शराब नीति की घोषणा करने की तैयारी में है। राज्य के अवैध शराब माफिया को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्पाद शुल्क अधिनियम में एक सेक्शन जोड़ने का फैसला किया था ताकि दोषी व्यक्तियों को लंबी अवधि के कारावास या मृत्युदंड का प्रावधान किया जा सके।