money

रिश्वत ना दिए जाने पर गरीब विधवा को रातों रात बनाया करोड़पति।

108

तौज़ीहा यास्मिन की रिपोर्ट

यूपी। गरीबों के उपर भ्रष्ट कर्मचारियों द्वारा अन्याय बढ़ता जा रहा है ताज़ा मामला यूपी का है जहां खेती बाड़ी करनी वाली विधवा महिला तारा देवी अपने बेटे अमित की पढ़ाई के लिए उसे छात्रवृत्ति दिलाने का प्रयास कर रही थीं| जिसके बदले में उनसे लेखपाल द्वारा रिश्वत की मांग की गई|गरीब के पास पैसे ना होने के कारण वो लेखपाल की इस मांग को पूरा ना कर सकीं, जिसके बाद लेखपाल ने आय प्रमाणपत्र में उनकी मासिक आय 43 लाख और वार्षिक आय 5 करोड़ दिखा दी ताकि उनके बेटे को छात्रवृत्ति ना मिल सके।

गरीब किसान तारा देवी का कहना है कि वो किसी तरह मेहनत मज़दूरी कर बेटे अमित का भविष्य संवारने का सपना लिए उसे छात्रवृत्ति दिलाने लाई थीं पर उल्टा मुसीबत में फस गईं छात्रवृत्ति की अर्जी की आखरी तारीख 31 जुलाई थी जो किअब बित चुकी है|

तारा देवी का कहना है कि अपने साथ हुए इस अन्याय की शकायत उन्होंने मुख्यमंत्री पोर्टल में की है फिर भी लेखपाल के खिलाफ कोई  करवाई नहीं की जा रही।