Gurjar strike

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति की प्रांतीय कार्यकारिणी मिली आंदोलनकारियों से

93
Omprakash Varma

ओमप्रकाश वर्मा

धौलपुर- जिले में गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति प्रांतीय कार्यकारिणी गुर्जर आरक्षण आंदोलन 2019 के दौरान धौलपुर जिला कारागृह में बंद आंदोलनकारियों से मिलने के लिए जिला कारागृह पहुंची.

इस दौरान मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने बताया कि आंदोलन के दौरान समझौता वार्ता में कर्नल बैंसला द्वारा मजबूती से पक्ष नहीं रखे जाने के कारण धौलपुर आंदोलन के आंदोलनकारी अभी तक रिहान नहीं हो पाए हैं, क्योंकि कर्नल बैंसला द्वारा मकसूदन पुरा सवाई माधोपुर में किया गया आंदोलन पूर्णत राजनीति से प्रेरित था और इसके परिणाम स्वरूप कर्नल बैंसला भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित हो गया.

लेकिन, मैं आंदोलनकारियों को आश्वस्त करना चाहता हूं, सरकार से वार्ता कर तुरंत गिरफ्तार आंदोलनकारियों को रिहा करवाया जाएगा एवं दर्ज मुकदमों का तुरंत निस्तारण किया जाएगा. जल्द ही आरक्षण संघर्ष समिति की प्रांतीय कार्यकारिणी की घोषणा कर रिजर्व पद एवं प्रक्रिया दिन भर्तियों में एमबीसी वर्क का हक सुनिश्चित किया जाएगा.

गुर्जर नेता श्री राम बैसला ने बताया कि बैंसला के भारतीय जनता पार्टी मैं जाने के साथ ही संघर्ष समिति ने आपात बैठक कर उन्हें संघर्ष समिति से निष्कासित कर दिया गया है और समाज की हितों की रक्षा के लिए संघर्ष समिति लगातार काम करती रहेगी.

गुर्जर नेता जय वीर सिंह पोसवाल ने बताया कि सरकार से वार्ता कर गिरफ्तार आंदोलनकारियों को तुरंत रिहा करवाया जाएगा एवं सरकार के साथ समाज का जो समझौता हुआ है. उस समझौते की पालना सुनिश्चित करने के लिए सरकार के साथ जल्द संघर्ष समिति की बैठक होगी. जिसमें समझौते के बिंदुओं को प्रमुखता के साथ रखा जा कर लागू करवाया जाएगा.

वरिष्ठ एडवोकेट शंकर सिंह गुर्जर ने बताया कि गुर्जर समाज आंदोलन के मुद्दे पर एकजुट था एकजुट है और एकजुट रहेगा धौलपुर गुर्जर समाज प्रदेश के गुर्जर समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ देगा.

युवा गुर्जर महासभा के प्रदेश सचिव संजय कंसाना ने कहा कि एमबीसी विधायक 2019 की सरकार मजबूती के साथ कोर्ट में पैरवी करें तथा उसे अनवरत लागू रखें.

इस दौरान दीवान सिंह शेरगढ़, राकेश सरपंच दाहिना जीतू माल बांदीकुई, एडवोकेट गिरीश गुर्जर, युवा गुर्जर महासभा प्रदेश सचिव संजय कसाना, मंडलेश्वर गुर्जर सोनू कपासिया, अर्जुन सिंह मावई, यशवीर पोसवाल सहित सैकड़ों की संख्या में गुर्जर समाज के कार्यकर्ता मौजूद रहे.