BREAKING NEWS
Search
Rajasthan Police

आनंदपाल सिंह एनकाउंटर: उग्र हुआ आंदोलन,16 जवान घायल, पुलिस ने की हवाई फायरिंग!

454

पत्रकार रमेशपुरी गोस्वामी,

राजस्थान/नागौर। डिडवाना (नागौर) गैंगस्टर आनंदपाल सिंह एनकाउंटर को लेकर बुधवार को सांवराद में आयोजित श्रद्वांजलि सभा में शामिल होने आए युवकों ने रात करीब आठ बजे सांवराद रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रैक उखाड़ दिया।

पुलिस व आरपीएफ के जवानों ने युवकों को खदेड़ने का प्रयास किया। तो उन्होंनें पुलिस पर हमला कर दिया, जिसमें एक दर्जन से अधिक पुलिस एवं आरपीएफ के जवान घायल हो गए। स्थिति नियंत्रण से बाहर होने पर पुलिस द्वारा जवाब में फायरिंग करने की जानकारी मिली। जिसमें चार युवक घायल हो गए।

हालांकि पुलिस का कहना है उपद्रवी युवकों ने उनसे हथियार छीन लिए तथा फायरिंग भी उन्होंनें ही की। तथा रेलवे ट्रैक को उखाड़ दिया।

सभी घायलों को डिडवाना के राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां दो जनों की स्थिति गंभीर होने पर प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रैफर किया गया।

जानकारी के अनुसार श्रद्वांजलि सभा में शामिल युवक दिन भर सरकार के जवाब का इंतजार करने के बाद शाम को सांवराद रेलवे स्टेशन की ओर चले गए तथा पटरियों पर कब्जा कर कर लिया। इस बीच पुलिस एवं प्रशासन द्वारा बार-बार यह बताया जा रहा था कि कुछ ही देर में उनकी मांगों को लेकर जवाब दिया जाएगा।

इससे युवक आक्रोशित हो गए और उन्होंने शाम करीब नौ बजे रेलवे ट्रैक उखाड़ दिया। स्थिति बिगड़ती देख पुलिस एवं रेलवे पुलिस ने उन्हें मौके से खदेड़ना चाहा। जिस पर युवकों ने पुलिस पर लाठीयों व पत्थरों से हमला कर दिया। जिसमें करीब 14 पुलिस के जवान घायल हो गए।

गौरतलब है की गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर के बाद बुधवार को सांवराद में हुई हुंकार रैली में राजपूत व रावणा राजपूत समाज के हजारों लोग उमड़ पड़े। हालत यह रहे की लोगों के उमड़ने के कारण सभा स्थल पर लगाया गया। पंडाल और टेंट भी कम पड़ गए। प्रदेशभर के विभिन्न क्षेत्रों से आए लोगों ने आनंदपाल सिंह के समर्थन में इस रैली में शिरकत कर सीबीआई जांच का समर्थन किया।

इस दौरान जहां लाडनूं कस्बा बंद रहा वहीं सांवराद में पुरे दिन स्थिति तनावपूर्ण बनी रही। आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर से आक्रोशित युवाओं ने बार-बार नारेबाजी की ओर हाईवे जाम करने का प्रयास किया उत्पाती युवाओं ने सड़क पर टायर व लकड़ियां जलाकर हाईवे जाम कर दिया।

उन्होंने पुलिस की दो गाडियो सहित एक ट्रक के शीशे तोड़ दिए। जब पुलिस ने युवाओं को वहां से हटकर हाईवे खुलवाने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस पर पत्थरबाजी कर दी। लेकिन पुलिस ने लाठीयां लहराकर तथा आंसू गैस के गोले छोड़कर उन्हें भगा दिया।

मौके की नजाकत को भांपते हुए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के भारी इंतजाम किए। इसके लिए सांवराद चोराहे को छावनी में तब्दील कर दिया गया। इसके अलावा सांवराद जाने वाले प्रत्येक रास्तों पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए।

[email protected]

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।