BREAKING NEWS
Search
Shubhangna murder mystry

सुबह चार बजे तक पार्टी वियर में थी करोड़ों की मालकिन, फिर सुनाई दी चीखें

680

मयंक भारद्वाज की रिपोर्ट,

जयपुर। दीप शिखा एजुकेशन ग्रुप के मालिक प्रेम सुराना की बेटी शुभांगना राज सावलानी की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। शनिवार सुबह उनकी बॉडी उनके बंगले पर फंदे से लटकती मिली।

40 साल की शुभांगना उर्फ रुचिरा की वेल्थ करीब 100 करोड़ रुपए थी। शुभांगना की मौत के तीन बाद अशोक नगर थाना पुलिस ने पति राजकुमार सावलानी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करके जांच शुरु की।

दूसरी तरफ शुभांगना के परिजन मंगलवार दोपहर में कमिश्नरेट पहुंचकर पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल व एडीशनल कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार से मिले और शुभांगना की मौत के मामले में जल्द कार्रवाई की मांग की। बता दें की शुभांगना ने अपने वकील को कई मेल किए थे जिसमें उसने राजकुमार पर नौकरानी से भी संबंध होने के आरोप लगाए हैं।

Shubhangna murder mystry

Janmanchnews.com

मौके के हालात और नौकरानी की बताई जा रही कहानी से इस केस में नया मोड़ आ सकता है। अब पुलिस शुभांगना के केस जांच इस एंगल से कर सकती है कि कहीं उन्हें बेहोशी में गला दबाकर फंदे से तो नहीं लटकाया गया था।

रात को आई थी झगड़ने की आवाज…

शुभांगना खुद जसोदा देवी कॉलेज एंड इंस्टीट्यूशन्स की चेयरपर्सन थीं। शुक्रवार रात किसी वक्त उनकी मौत हुई। मौत का पता शनिवार सुबह बेटे मिहिर सावलानी और नौकरानी को चला जब वे अपने कमरे से बाहर नहीं निकलीं। कमरा खोले जाने पर शुभांगना फंदे से लटकती मिलीं।

शुभांगना के पिता प्रेम सुराना ने बताया कि उनकी बेटी शादी से पहले रुचिरा सुराना नाम लिखती थीं। पति राजकुमार सावलानी अलग बिजनेस करते हैं। राजकुमार ने बताया कि शुभांगना कई दिनों से डिप्रेशन में थीं। उनके मुताबिक संभवत: शुभांगना अपने काम को लेकर परेशान थीं।

Read this also…

Ex-बिग बॉस कंटेस्टेंट के साथ रोमांस करती दिखेगी भयंकर परी, देखें होश उड़ा देने वाली खास तस्वीरें

अशोक नगर थाना प्रभारी बालाराम के मुताबिक, शुभांगना के पिता प्रेम सुराना ने बेटी की हत्या करने का आरोप लगाकर रिपोर्ट दी है। हत्या किए जाने को लेकर जो भी बात बताई है उनकी जांच कर रहे हैं। हम मौके पर जाकर हालात देख चुके हैं। परिवारवाले यह भी कह रहे हैं कि शुभांगना के फोन से किसी और ने फोन लगाया।

सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग

जशोदा देवी एजुकेशन ग्रुप की चेयरपर्सन शुभांगना की मौत ने पुलिस को पसोपेश में डाल दिया है। पुलिस भले ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार इसे आत्महत्या का केस मान रही है, लेकिन हत्या से भी इनकार नहीं कर रही है। ऐसे में पुलिस कॉलेज में लगे सीसीटीवी कैमरे घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग देखी जाएगी।

सुराणा ने शुभांगना के पति राजकुमार पर बेटी की हत्या करने का शक जताते हुए अधिकारियों को कुछ दस्तावेज सबूत के तौर पर दिए, जो शुभांगना की मौत से पहले उसने अपने एडवोकेट को ई-मेल किए थे और वाट्स ऐप पर राजकुमार के साथ हुई बातचीत के अंश हैं।

अश्लील मैसेज

आरोप है कि राजकुमार अपने चार साथियों के साथ शुक्रवार की रात को कॉलेज में गया और शुभांगना को वहां पर रुकने के लिए फोन किया था। गार्ड को शुभांगना ने राजकुमार को रुकवाने के लिए कहा था। राजकुमार शुभांगना पिछले आठ माह से अलग-अलग रह रहे थे।

Read this also…

परिजनों ने कमरे का गेट खोला तो उड़ गए होश

ऐसे में राजकुमार का अचानक कॉलेज जाना और उसी समय वाट्सऐप पर शुभांगना को मिलने, गाली-गलौज करने अश्लील मैसेज करके प्रताडि़त किया था। ऐसे में पुलिस इसके आधार पर राजकुमार की भूमिका को संदिग्ध मान रही है।

नौकरानी से संबंध थे

प्रेम सुराणा ने बताया कि बेटी शुभांगना ने आरोपी के खिलाफ महिला थाने में दहेज का केस दर्ज कराया था, लेकिन तब वह शांति से रहने लगा तो शुभांगना ने केस वापस ले लिया था।

राजकुमार के कई युवतियों, महिला कर्मचारियों नौकरानी से संबंध थे। इसकी भनक जब शुभांगना को लगी, तो वह शराब के नशे में उसके साथ मारपीट करता और कॉलेज में लाखों रुपए का घोटाला कर दिया। कई दिनों तक शुभांगना ने उसकी हरकतों को सहन किया। सुराणा का यह आरोप भी है कि राजकुमार ने शुभांगना को एक दफा नशीली दवा विषाक्त पदार्थ खिलाकर हत्या करने का प्रयास भी किया था।