BREAKING NEWS
Search
rajneesh tiwary

जाप प्रवक्ता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से घटना की न्यायिक जांच एवं राजीव प्रताप रूडी पर F.I.R करने को लेकर लिखा पत्र

220
Share this news...

पटना. कोरोना के इस वैश्विक महामारी में एंबुलेंस जैसे आवश्यक सेवा से जनता को महरुम रख उसके जमाखोरी एवं सरकारी पैसों के दुरुपयोग हेतु सारण के सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूढी पर आवश्यक कार्रवाई जाप युवा परिषद के प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता रजनीश कुमार तिवारी ने सुबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखा है|

रजनीश तिवारी ने पत्र के माध्यम से जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद पप्पू यादव को झुठे केस से मुक्त करने, पूरी मामले की न्यायिक जांच एवं राजीव प्रताप रूडी पर मुकदमा चलाने का अनुरोध किया है. उन्होंने इस पत्र की एक- एक कॉपी बिहार के राज्यपाल ,पुलिस महानिदेशक, सारण के जिलाधिकारी एवं पुलिस कप्तान को भी भेजा है|

  

उन्होंने पत्र के माध्यम से 9 महत्वपूर्ण प्रश्न दागे हैं जिसकी जांच अभिलंब जांच कराने का मांग किया किया है जो इस प्रकार है|

1.इन एंबुलेंस को जनता की सेवा के बजाए शोभा की वस्तु क्यों बनाया गया। जबकि इस एंबुलेंस से रोजाना सैकङो जान बचाया जा सकता है।

2 इन एंबुलेस की खरीद सरकारी पैसों से की गयी है फिर इसका संचालन किसके हाथ है और इसे चलाया क्यों नहीं गया।

3 सरकारी एंबुलेंस को निजी जमीन या निजी घर में नहीं रख सकते तो वहां क्यों पड़े हुए हैं? जबकि एंबुलेंस तो सरकारी अस्पताल पंचायत में स्वास्थ्य केंद्र सिविल सर्जन या जिलाधिकारी के देखरेख में होना चाहिए.

4.पप्पू यादव जी की आवाज उठाने के बाद सांसद ने 6 मई 2021 को जारी किए गए पत्र जो जिलाधिकारी के नाम पर है किस माध्यम से डीएम को भेजे गए इसकी जांच होनी चाहिए|

5.सांसद के द्वारा जो एंबुलेंस कहा जा रहा है कि चल रहे हैं वह किसके हाथों में हैं और किनके देखरेख में चल रहा है? क्या अगर निजी लोग मुखिया सरपंच या उनके चहते जनप्रतिनिधि को एंबुलेंस सौंपा गया है तो क्या इसका राइट है क्या कोई मुखिया या कोई जनप्रतिनिधि एंबुलेंस अपने पास रख सकता है|

6.अब तक जो एंबुलेंस चल रहे हैं जो इस्तेमाल में है उसका किराया कौन वसूलता है और अब तक के किराए को सरकारी खाते में जमा कराया गया या नहीं यह जांच का विषय है?

7.इस कोरोना महामारी में जहां एंबुलेंस के अभाव में हजारों जिंदगीया जा रही हैं एंबुलेंस चालक औने पौने दाम में मनमाना पैसा वसूल रहे हैं इस हालात में वर्षों से एक ही जगह सांसद लगभग 39 एंबुलेंस दबाए हुए हैं उन पर महामारी एक्ट के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो और अविलंब कार्रवाई हो.

8. जिन लोगों का भी सारण संसदीय क्षेत्र में एंबुलेंस के अभाव में निधन हो गया है उनके परिजनों की पीड़ा और दुख दर्द के समझते हुए सांसद राजीव प्रताप रूडी पर 302 का मुकदमा दायर हो और ऐसे परिवारों को उचित मुआवजा मिले.

9. और जब इस मामले का उद्भेदन पप्पू यादव ने किया तो उल्टे उन पर ही अमनौर थाने में केस दर्ज किया गया है अतः हम श्रीमान से अनुरोध करते हैं की जन भावना को देखते हुए पप्पु यादव पर दर्ज झूठे केस को वापस लिया जाए और सांसद राजीव प्रताप रूडी पर आवश्यक कार्यवाही किया जाए तथा उन सभी एंबुलेंस का परिचालन सुनिश्चित किया जाए.

Share this news...