BREAKING NEWS
Search
Raid

राठ स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर ने पत्रकारों के खिलाफ लिखवाया फर्जी मुकदमा

446
Share this news...

रिजवान उद्दीन की रिपोर्ट-

राठ/हमीरपुर- पत्रकारों ने एकजुट होकर राठ एसडीएम को ज्ञापन देते हुए की निष्पक्ष जांच करवाने की अपील की है. शासन ने जांच के आदेश दे दिए है, वहीं नायब तहसीलदार द्वारा जांच में गड्ढे में पड़ी भारी मात्रा में सरकारी दवाई मिली.

दरअसल, दवाइयों के गोरखधंधे का पत्रकार ने खुलासा किया था, जिस पर राठ स्वास्थ्य केंद्र डॉक्टर ने षड्यंत्र के तहत लिखवाया था. फर्जी मुकदमा मामला जनपद हमीरपुर के राठ स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां पर डॉक्टरों की मिलीभगत से दवाइयों का गोरखधंधा चल रहा था.

आपको बता दें, कि राठ स्वास्थ्य केंद्र में आई हुई सरकारी दवाओं को यहां के अधीक्षक डॉक्टर द्वारा एक गड्ढे में दबाकर खत्म कर दी गई. जब पत्रकारों ने इसकी शिकायत एसडीएम से की तो स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक ने पत्रकारों के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया.

एसडीएम द्वारा जांच के आदेश देने पर तहसीलदार द्वारा जांच करने पर पाया गया कि लाखों की कीमत की दवाइयां जो गरीब आदमी और मरीजों के लिए लाई गई है.उसे अस्पताल से गायब करवा कर एक गड्ढे में डलवा दिया गया और लोगों को बाहर की दवाई लिखकर मोटा कमीशन कमाया जा सके.

जांच में जो दवाई प्राप्त हुई है. उनकी एक इंजेक्शन की कीमत 1500 रुपये से लेकर 2000 तक बताई गयी है, कई लाखों की दवाइयां जांच में बरामद हुई, राठ स्वास्थ्य केंद्र डॉक्टर ने खुदका नियम कानून बना लिया, हॉस्पिटल की दीवारों पर चिपकाए पंपलेट हॉस्पिटल में फोटो खींचना वीडियो बनाना और खबरें बनाना पूर्णतया वर्जित है.

ऐसा पाए जाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जबकि पंपलेट पर यह नहीं दर्शाया गया है कि यह किस की आज्ञा से लिखकर चिपकाए गए हैं,जबकि शासन प्रशासन से ऐसे कोई आदेश नहीं है कि पत्रकार कहीं जाकर कवरेज नहीं कर सकते.

राठ स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचे कई मरीजों ने भी डॉक्टरों की लिखित शिकायत एसडीएम से की मरीजों का कहना है कि यहां पर इलाज कराने के नाम पर डॉक्टर बड़ी रकम वसूल करते हैं और बाहरी दवाइयां लिखकर हमारी जेब काटी जा रही है.

जांच के दौरान नायब तहसीलदार ने हजारों की संख्या में कीमती और महंगे इंजेक्शन बरामद किए. जिनमें से 104 इंजेक्शन और दवाइयां सैंपल के रूप में सीज कर दी गई है. नायब तहसीलदार और एसडीएम राठ सुरेश कुमार जी का कहना है कि इसकी सूचना आला अधिकारियों को दे दी गई है.

बुधवार को बाहर से जांच टीम राठ में आएगी और जांच के दौरान जो तथ्य सामने आएंगे. उस आधार पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. साथ ही मौके पर समाजवादी पार्टी के युवजन सभा जिला अध्यक्ष सतपाल यादव ने भी इस प्रकार की कृत की कड़ी निंदा की.

Share this news...