BREAKING NEWS
Search
एनपीए

पीएनबी घोटाला: आरबीआई अलर्ट, बैंकों को सख्त दिशानिर्देश जारी

341

बैंकों को अब हर हफ्ते डिफ़ाल्टरों की डिटेल्स आरबीआई को भेजने के साथ-साथ 180 दिनों के अंदर डिफ़ाल्टरों से निपटनें का प्लान तैयार करना होगा…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

मुंबई: आरबीआई नें पीएनबी में अब तक के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के प्रकाश में आनें के बाद नॉन परफार्मिंग एेसेट यानि एनपीए पर चिंता जताते हुये कड़े कदम उठाने का खाका तैयार कर लिया है। जिसके लिए आरबीआई ने स्ट्रेस्ड लोन स्ट्रक्चर स्कीम को रद्द करने का फैसला किया है। इसके अलावा हर बैंक को यह निर्देश दिया गया है की वह आरबीआई को हर हफ्ते डिफाल्टरों के बारे में जानकारी दें।

कॉरपोरेट डेट रीस्ट्रक्चरिंग (सीडीआर), S4A, स्ट्रैटजिक डेट रीस्ट्रक्चरिंग जस्सी स्कीमों को रद्द कर दिया है। इंसोलवेंसी एंड बैंकरप्टसी कोड लागू होने के बाद उपरोक्त सभी स्कीमों का कोई भी आधार नहीं रह जाएगा। आरबीआई ने जारी अपने निर्देश में हर शुक्रवार को डेटा साझा करने का आदेश दिया है। इसके अलावा दो हजार करोड़ या उससे ऊपर का लोन डिफाल्टर लोन अकाउंट पर एक योजना तैयार रखने को कहा है और 180 दिन के भीतर इस योजना को पूरा करने के लिए कहा है।

पंजाब

Biggest Banking Scam as of now unearthed in Mumbai Branch of Punjab National Bank…

बता दें कि आरबीआई का यह निर्देश देश के प्रतिष्ठित बैंकों में से एक पंजाब नेशनल बैंक में एक बड़ा धोखाधड़ी का मामला सामने आनें के बाद आया है। पंजाब नेशनल बैंक के मुंबई ब्रांच में एक खरब, 13 अरब, 51 करोड़, 89 लाख, 50 हजार रुपये के फर्जी लेनदेन का खुलासा हुआ है। इस खुलासे के बाद शेयर बाजार में पंजाब नेशनल बैंक बैंक के शेयरों में गिरावट का दौर जारी है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दिए गए बयान में बताया गया कि चुनिंदा खाताधारकों को लाभ पहुंचाने के लिए इसकी सहमति दी गई। ताकि इस आधार पर विदेश में उन ग्राहकों को दूसरे बैंकों से अच्छा पैसा मिलता रहे। पंजाब नेशनल बैंक कर्जा देने के मामले में दूसरा सबसे बड़ा बैंक है और संपत्ति के लिहाज से देखा जाए तो देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक है।

स्टॉक

Since the moment News about PNB Scam broke stocks of all banks are getting down…

फिलहाल इस धोखाधड़ी में किसी के नाम का खुलासा नहीं हुआ है। इस सौदेबाजी की सूचना जांच एजेंसियों को दे दी गई हैं। अब इस बात की जांच की जाएगी, की जवाबदेही किसकी बनती है। इस पूरे मामले पर पंजाब नेशनल बैंक ने अपनी ओर से एक सफाई पेश की है जिसमें कहा गया है कि बैंक में लेनदेन आकस्मिक प्रवृति के हैं और इन पर देनदारी का फैसला कानून और अंत निर्यात लेनदेन के आधार पर किया जाएगा।

आपको बता दें बुधवार को सुबह पंजाब नेशनल बैंक बैंक के शेयर में 4.1 फ़ीसदी की गिरावट के साथ खुला था। जो अब गिरकर 5.7 फ़ीसदी तक हो गया है। बिकवाली के चलते बैंक का शेयर करीब 8 फ़ीसदी तक टूट गया है। इस गिरावट की मुख्य वजह मुंबई ब्रांच में करोड़ों की हेराफेरी मुख्य वजह बताई जा रही है।