रिलायंस इंडस्ट्रीज 10 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाली देश की पहली कंपनी बनी

98

New Delhi: रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) 10 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाली देश की पहली कंपनी बन गई। बीएसई पर रिलायंस के शेयर में गुरुवार को 0.7% तेजी आने से वैल्यूएशन में 5 हजार करोड़ रुपए का इजाफा हुआ। बुधवार को 9 लाख 95 हजार करोड़ रुपए था। कंपनी ने एक हफ्ते में दूसरा रिकॉर्ड बनाया। पिछले मंगलवार को 9.5 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप तक पहुंचने वाली पहली भारतीय कंपनी बनी थी। कंपनी 18 अक्टूबर को 9 लाख करोड़ रुपए पर पहुंची थी।

वैल्यूएशन में टॉप-5 कंपनियां

कंपनी मार्केट कैप (रुपए)
रिलायंस इंडस्ट्रीज 10 लाख करोड़
टीसीएस 7.80 लाख करोड़
एचडीएफसी बैंक 6.97 लाख करोड़
हिंदुस्तान यूनीलीवर 4.48 लाख करोड़
एचडीएफसी 4 लाख करोड़

आरआईएल ने निवेशकों को इस साल 40% रिटर्न दिया
रिलायंस का शेयर गुरुवार को कारोबार के दौरान इस स्तर पर पहुंचा। बुधवार को 0.7% बढ़त के साथ 1569.75 रुपए पर बंद हुआ था। रिलायंस के शेयर ने इस साल निवेशकों को 40% रिटर्न दिया है। ब्रोकरेज फर्मों के रेटिंग बढ़ाने और टेलीकॉम बिजनेस में लगातार फायदे में रहने की वजह से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में पिछले कुछ दिनों से लगातार तेजी बनी हुई है।

रिलायंस पिछले हफ्ते दुनिया की 6 प्रमुख एनर्जी कंपनियों के क्लब में भी शामिल हुई
कंपनी एनर्जी सेक्टर में दुनिया की प्रमुख कंपनियों के एलीट क्लब में शामिल हो गई थी। आरआईएल अब दुनिया की छठी बड़ी लिस्टेड तेल कंपनी है। रिलायंस ने मार्केट कैप में पिछले मंगलवार को ब्रिटिश कंपनी बीपी को पीछे छोड़ दिया। रिलायंस का मौजूदा मार्केट कैप 140 अरब डॉलर (10 लाख करोड़ रुपए) है। बीपी का 128 अरब डॉलर है। पहले नंबर पर अमेरिका की एक्सॉन मोबिल है। उसका मार्केट कैप 290 अरब डॉलर है।

रिलायंस अगले 2 साल में 200 अरब डॉलर तक पहुंच सकती है: रिपोर्ट
ब्रोकरेज फर्म बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने पिछले महीने ये रिपोर्ट जारी की। इसके मुताबिक रिलायंस के न्यू कॉमर्स और ब्रॉडबैंड बिजनेस की मदद से अगले 24 महीने में कंपनी का मार्केट कैप 200 अरब डॉलर तक पहुंच सकता है।