BREAKING NEWS
Search
Rhea Chakraborty reaches ED office

रिया चक्रवर्ती ईडी के दफ्तर पहुंचीं, सुबह एजेंसी ने पूछताछ टालने की अपील खारिज कर दी थी

293

रिया चक्रवर्ती ईडी के दफ्तर पहुंच गई हैं। इससे पहले रिया ने पूछताछ टालने की गुजारिश की थी, जिसे ठुकरा दिया गया था। रिया ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में उनकी याचिका पर फैसला आने तक उनके बयान न लिए जाएं। रिया पर सुशांत के खाते से 15 करोड़ निकाल कर अपनी कंपनी में इन्वेस्ट करवाने का आरोप है।

इस बीच, ईडी ने सुशांत की बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी को पूछताछ के लिए आज बुलाया किया है। सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी से 8 अगस्त को पूछताछ की जाएगी। रिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाकर पटना में उनके खिलाफ दर्ज किया गया केस मुंबई ट्रांसफर करने की गुजारिश की है।

इस तरह के सवाल पूछ सकती है ईडी

1. आपके परिवार के लोग क्या व्यवसाय करते हैं। आपका और परिवार का सोर्स ऑफ इनकम क्या है। आय कितनी है?

2. आप कितनी कंपनियों में डायरेक्टर हैं और आपके परिवार की इन कंपनियों में कोई हिस्सेदारी है?

3. रिया की कंपनियों के टर्नओवर और उनकी फिल्मों की कमाई को लेकर भी ईडी पूछताछ कर सकती है?

4. ईडी उनसे बैंक खातों की डिटेल और कितने बैंकों में उनके कितने पैसे जमा हैं इन सब बारे में दस्तावेज मांग सकती है।

5. आपके नाम पर कितनी संपत्ति है और कहां-कहां पर यह संपत्तियां हैं? क्या इन संपत्तियों में सुशांत सिंह राजपूत का पैसा लगा है?

6.क्या आप सुशांत के आर्थिक मामलों की देखरेख पूरी तरह से करती थी या उनके कुछ पैसों को मैनेज करती थी? क्या इसके लिए आपने किसी फाइनेंशियल फर्म या किसी सीए का सहारा लिया था?

7.आप किस हक से सुशांत के खातों को ऑपरेट कर रही थी? क्या सुशांत ने लिखित में या मौखिक रूप में आपसे अपने खाते ऑपरेट करने की मंजूरी दी थी?

बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया

उधर, बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है। इसमें कहा गया है इस मामले में बिहार में केस दर्ज किया जाना कहीं से गलत नहीं है। अपराध की जानकारी मिलती है तो पुलिस को एफआईआर दर्ज करनी ही पड़ती है। मुंबई पुलिस ने हमारा सहयोग नहीं किया, लेकिन हमने पाया कि इसके तार मुंबई ही नहीं, पूरे देश से जुड़े हैं।

हलफनामे में यह भी कहा गया कि इस केस में बिहार पुलिस जांच नहीं कर पा रही, इसलिए इसे सीबीआई को सौंपने की केंद्र से गुजारिश की गई। अब सीबीआई ने केस अपने हाथ में ले लिया है तो रिया की याचिका पर सुनवाई की कोई जरूरत नहीं है। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में 5 अगस्त को सुनवाई हुई थी। सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से 3 दिन में जवाब मांगा था।

पटना एसपी विनय तिवारी को बीएमसी ने आजाद किया

उधर,बृहन्मुंबई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) ने पटना एसपी विनय तिवारी को शुक्रवार को क्वारैंटाइन से आजाद कर दिया है। वे आज पटना रवाना हो सकते हैं। उन्हें बीएमसी ने रविवार को जोगेश्वरी के एक गेस्ट हाउस में क्वारैंटाइन किया था। उनके हाथ पर क्वारैंटाइन सील भी लगाई गई थी। उनकी रिहाई के दौरान बीएमसी की ओर से बताया गया कि वे लॉकडाउन नियमों का पालन करते हुए लोगों से पूछताछ कर सकते हैं।

पटना के आईजी ने बीएमसी कमिश्नर को लिखा था पत्र

इससे पहले पटना के आईजी ने 3 अगस्त को बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल को एक पत्र लिखकर लॉकडाउन नियम में छूट की गुजारिश की थी और एसपी विनय तिवारी को छोड़ने को कहा था। बीएमसी ने इस मांग को ठुकराते हुए एक पत्र जारी किया था। जिसके बाद बिहार के डीजीपी ने बीएमसी के काम करने के तरीकों पर सवाल उठाए थे।

सीबीआई ने भी दर्ज किया है केस

इस बीच, गुरुवार को सीबीआई ने सुशांत केस में 6 आरोपियों और अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें रिया चक्रवर्ती, उनके पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, भाई शोविक चक्रवर्ती, मां संध्या चक्रवर्ती, उनके बिजनेस मैनेजर सेमुअल मिरांडा, पर्सनल मैनेजर श्रुति मोदी और अन्य शामिल हैं।