बंदर

सेंचुरी लगाकर बंदर हुआ आऊट, इंसानों नें ली चैन की सांस

245

सौ से अधिक लोगों को एंटी रैबीज़ इंजेक्शन की खुराक दिलवाने वाले बदमाश बंदर का खौफ था क्षेत्र में

Tabish Ahmed

ताबिश अहमद

 

 

 

 

 

वाराणसी: भोले की नगरी काशी में वैसे तो सभी जीव-जंतुओं को पूरा सम्‍मान मिलता है, लेकिन कभी-कभी शैतान किस्‍म के जानवर बनारसियों के सम्‍मानभाव का मोल नहीं समझते। शिव की काशी में भड़के हुए सांड, कुत्ते, सांप, बंदर आदि को शांत रखने के लिए महादेव के नाम का सहारा लिया जाता है, लेकिन कई बार कुछ अड़ियल किस्‍म के जानवर इस दुहाई से भी नहीं मानते।

स्कोर 100

ऐसा ही एक जिद्दी बंदर जो अबतक 100 से ज्‍यादा लोगों को अस्‍पताल का मुंह दिखा चुका है, को आज आखिरकार दबोच लिया गया। मामला बड़ागांव इलाके का है। यहां बड़ागांव बाजार में पिछले तीन महीने से आतंक का पर्याय बने एक बंदर को वन विभाग की टीम ने कड़ी मशक्‍कत के बाद पकड़ लिया।

स्‍थानीय लोगों की मानें तो ये बंदर पिछले तीन महीने से बाजार और आस-पास के इलाके में घूम-घूमकर लोगों को खासकर बच्‍चों और महिलाओं को आतंकित करता था। सिर्फ इतना ही नहीं इसके पैने दांतों के शिकार होकर 100 से ज्‍यादा लोग विभिन्‍न अस्‍पतालों में मरहम पट्टी और महंगे इंजेक्‍शन लगवा चुके हैं।

इसकी शिकायत लोगों ने कई बार अधिकारियों से की थी, जिसके बाद आज वन विभाग की टीम ने इसे पकड़कर पिंजरे में कैद कर लिया। टीम अब इस बंदर का मेडिकल करा के इसे जंगली इलाके में छोड़ देगी। कटहा बंदर के पकड़े जाने से बड़ागांव बाजार सहित आस-पास के गांवों के लोगों ने राहत की सांस ली है।