Bihar Police

रिश्वत वसूली का रोसड़ा में वीडियो हुआ तेजी से वायरल, एसपी ने होमगार्ड जवान को भेजा जेल

322
Santosh Raj

संतोष राज की रिपोर्ट,

समस्तीपुर। जिले में 45 दिनों के अंदर पुलिस वाले के दूसरी वीडियो वायरल। वाहन चेकिंग के दौरान रोसड़ा थाना के पुलिस द्वारा हो रही थी पैसे की उगाही। लोगो ने बनाई वीडियो किया वायरल।

बताते चलें कि इनदिनों जिले के पुलिस खूब सोशल मीडिया चर्चा में थे। एक बार फिर रोसड़ा थाना के पुलिस बल के द्वारा रिश्वत लेने का वीडियो वायरल हुआ। वीडियो में दो युवकों से पुलिस का एक जवान वसूली कर रहे। उक्त पुलिसकर्मी रोसड़ा थाना के होमगार्ड जवान प्रमोद सिंह बताया जा रहा है।

वीडियो वायरल को देखते हुए पुलिस अधीक्षक एसपी विकास वर्मन ने बताया कि सोशल मीडिया पर एक पुलिस वाले का रिश्वत लेते वीडियो वायरल हो रहा है। इस संबंध में रोसड़ा एसडीपीओ व थानाध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी गई है। इसकी जांच रिपोर्ट प्राप्त होने पर उक्त जवान के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई किया जायेगा।

ज्ञात हो कि रोसड़ा अनुमंडल में 45 दिनों के अंदर ये दूसरी घटना है। समस्तीपुर जिले में इन दिनों आम लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। आम लोगों का यह भी कहना है पुलिस वाले बिना रिश्वत लिए कोई भी काम नहीं करते हैं। जिस तरीके से लगातार पुलिस वाले रिश्वत वाली वीडियो वायरल हो रही है। इससे ये जाहिर होती है कि पुलिस जवान को कोई ना कोई तो पदाधिकारी आदेश दिया होगा। जिससे खुलेआम पैसे की उगाही की जा रही है।

पिछले दिनों वाली वीडियो पुलिस वाले ने तो सारे सिस्टम का पोल खोल कर रख दिया। जिनसे हो रिश्वत का पैसा दे रहा था उन व्यक्ति को पुलिस वाले ने कहा कि यह पैसा मैं अकेले नहीं ले रहा हूं। इसमें तो डीएसपी साहब का भी कमीशन जाएगा। उस वीडियो की वायरल होते ही शिवाजीनगर के पुलिस को स्पेंड कर दिया गया था। लेकिन उस वीडियो में डीएसपी का भी नाम सामने आया था।

तत्कालीन एसपी हरप्रीत कौर ने प्रेसवार्ता के दौरान बताई थी कि जिन लोगों का आ रहा है जांच उपरांत कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि ठीक 15 दिन के अंदर एसपी साहिबा की तबादला हो गया और उसके बाद रोसड़ा डीएसपी का भी तबादला हो गया। इन सारी बातों की जानकारी बिहार के पुलिस कप्तान गुप्तेश्वर पांडे को भी है। एक ना एक दिन स्थानीय पुलिस पर भी गाज गिर सकती है।

बताते चलें कि रोसड़ा में तैनात होमगार्ड जवान प्रमोद सिंह को रोसड़ा पुलिस बल गिरफ्तार कर कोर्ट के कागजी कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया।