samastipur drug inspector

चार ड्रग इंस्पेक्टर मिलकर कर रहे हैं एक्सपायरी दवा की जांच, कहा PHC से नहीं मिल रहा सहयोग

626
Santosh Raj

संतोष राज

समस्तीपुर (शिवाजीनगर)। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शिवाजीनगर के सील दवा भंडार गृह को आज चार ड्रग इंस्पेक्टर एवं मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में खोला गया। तैनात पुलिसकर्मियों के बीच ड्रग इंस्पेक्टर ने बारीकी से एक-एक एक्सपायरी दवा को संधारित कर रहे हैं।

बता दें कि पिछले दिनों लाखों कीमत की एक्सपायर्ड दवा लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण एवं ग्रामीण स्वच्छता समिति जिला परिषद के सदस्यों ने पकड़ी थी एवं वर्तमान जिलाधिकारी के आदेश पर ड्रग इंस्पेक्टर को बुलाकर दवा भंडार को सील किया गया था।

समिति के सदस्यों ने इसकी निष्पक्ष जांच की मांग जिलाधिकारी से भी की थी। आज की जांच के उपरांत ड्रग इंस्पेक्टर एस एन ठाकुर ने संवादाता को बताया कि स्थानीय चिकित्सा पदाधिकारी जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। इस प्रकार की स्थिति रही तो एक एक दवा को संधारित करने में महीनों लगेंगे। यहाँ भारी मात्रा में यत्र तत्र दवाएं रखी हुई है। वर्ष 2011, 2014, 2015, 2016, 2017 एवं मार्च 2018 तक की एक्सपायर्ड दवा मिल रही है।

सनद रहे कि जनता के हिस्से की हक को चिकित्सा प्रभारी डॉ. टी पी चौधरी द्वारा जानभुझ कर हकमारी कर दिया है। इस कृत से एक ओर आमजन परेशान हुए हैं।

वहीं दूसरी ओर सरकार को भी बदनाम करने की पूरी कोशिश की गई है। देखना यह है कि इस जांच से गलत काम करने वाले पदाधिकारी पर कितना अंकुश लगेगा एवं आमजन के लिए कल्याणकारी योजनाएं कितना हद तक क्रियान्वयन हो सकेगा।

आज जांच के दौरान ड्रग इंस्पेक्टर एस एन ठाकुर, जयशंकर प्रसाद, अनिल कुमार प्रसाद, शिवनंदन जीके अलावे मजिस्ट्रेट गुरुचरण चौधरी, स नि शम्भू प्रसाद यादव आदि मौजूद रहे।