satyam-shivam sundaram high-school

सत्यम शिवम सुंदरम उच्च विद्यालय फुलवरिया में 14वां वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया

368

मुकेश कुमार गोस्वामी की रिपोर्ट

सभी गणमान्य मुख्य अतिथि को दिव्यांग युवा के द्वारा किया गया सम्मानित

डोमचांच। प्रखंड अंतर्गत शनिवार को फुलवरिया स्थित सत्यम शिवम सुंदरम उच्च विद्यालय के प्रांगण में स्कूल का 14 वां वार्षिकोत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि जिप अध्यक्ष शालिनी गुप्ता, फुलवरिया मुखिया कृष्ण मुरारी मेहता सत्यम शिवम सुंदरम उच्च विद्यालय फुलवरिया के डायरेक्टर रामकृष्ण मेहता, वार्ड पार्षद शिव कुमार, विश्वनाथ मेहता, आर. टी विद्या विद्यालय के डायरेक्टर शिव कुमार मेहता, के कर कमलों के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

शालिनी गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा अमूल्य धन है और शिक्षा के साथ अन्य गतिविधि भी छात्रों के जीवन में जरूरी है शिव कुमार मेहता अपने संबोधन में कहा कि पढ़ाई लिखाई के साथ में गीत नृत्य भी जरूरी है। आज के कार्यक्रम में बच्चों ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। इस तरह के वार्षिकोत्सव समारोह में बच्चों का अन्य क्षेत्र में भी सर्वागीण विकास होता है बच्चों के द्वारा एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी गई।

बच्चों की प्रस्तुति ने सबका मन मोह लिया कार्यक्रम मौजूद सभी लोग तब भावुक तब हो गए जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमला को स्कूल के डायरेक्टर द्वारा संक्षेप में बताया तो उनकी आंखें आंसुओं से भर गई कार्यक्रम में उपस्थित हजारों लोग भावुक हो उठे। स्कूल के डायरेक्टर रामकृष्ण मेहता खुद एंकरिंग करते हुए नजर आए।

कार्यक्रम का सबसे अद्भुत पल तब देखने को मिला जब दिव्यांग युवा कार्यक्रम में आए सभी गणमान्य एवं मुख्य अतिथि को बुके देकर सम्मानित किया। साथ ही लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकार बंधुओं को भी बुके देकर सम्मानित किया गया।

यह बहुत ही गर्व की बात है मौके पर मौजूद मुख्य अतिथि फुलवरिया मुखिया कृष्ण मुरारी मेहता, आर.टी विद्या विद्यालय के डायरेक्टर शिव कुमार मेहता, वार्ड पार्षद शिव कुमार, जगनारायण मेहता, विश्वनाथ मेहता, राजन कुमार मेहता, साथ ही इस कार्यक्रम को सफल बनाने में स्कूल के डायरेक्टर रामकृष्ण मेहता साथ ही स्कूल के शिक्षक गण प्रदीप मेहता विनोद मेहता विवेक कुमार साव, जया श्री, कुसुम कुमारी, निशा कुमारी, प्रीति कुमारी, मो. मुबारक हुसैन, इत्यादि ने विद्यालय के सभी छात्र छात्राओं का मनोबल बढ़ाया और कार्यक्रम की समाप्ति की गई।