Aanand Kumar

बिहार दिवस के मौके पर सऊदी अरब चैप्टर ने किया भव्य समारोह का आयोजन

185

पटना। रियाद, सुपर 30 के संस्थापक और रितिक रोशन अभिनीत बायोपिक के लिए चर्चित गणितज्ञ आनंद कुमार ने सऊदी अरब में प्रवासी बिहारियों को समाज में शिक्षा के प्रकाश को फैलाने में अपना योगदान देने का आह्वान किया, क्योंकि शिक्षा में अकेले ही समाज को बदलने और सभी बुराइयों से लड़ने की ताकत है।

आनंद कुमार रियाद में बिहार फाउंडेशन के सऊदी अरब चैप्टर द्वारा आयोजित बिहार दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। समय पर उचित शिक्षा मिलाने के बाद, समाज के सबसे निचले तबके के छात्रों के जीवन में कैसे पीढीगत बदलाव आया है, इसका उदाहरण देते हुए आनंद कुमार ने कहा कि यह समाज के संपन्न लोगों की जिम्मेवारी है कि वे प्रयास करते रहें कि कैसे जरूरतमंदों तबके तक कैसे गुणवत्ता की पहुंच हो। 

Super 30 Anand Kumar

Janmanchnews.com

बिहार ही नहीं, बल्कि पूरे भारत में जरूरतमंदों के लिए शिक्षा को सुविधाजनक बनाने से ज्यादा कुछ भी संतोषजनक नहीं है। यहां हर एक समर्थवान बिहारी प्रवासी बहुत बड़ा बदलाव ला सकता है।

आप किसी व्यक्ति को एक या दो बार पैसे की मदद कर सकते हैं, लेकिन आप कभी भी परिणाम नहीं दिखेगा, लेकिन एक बार जब कोई व्यक्ति अच्छी तरह से  शिक्षित हो जाता है, तो परिणाम हमेशा सकारात्मक होता है और वह दुनिया में सामने मिसाल होता है। शिक्षा से एक व्यक्ति आत्मविश्वास से भर जाता है और वह सही समय पर सही निर्णय ले सकता है। चाहे वह निर्णय चुनाव में सही प्रतिनिधि चुनने का ही क्यों न हो।

बिहार फाउंडेशन सऊदी अरब चैप्टर के अध्यक्ष ओबैदुर रहमान ने आनंद कुमार को आश्वासन देते हुये कहा कि सुपर 30 जैसी पहल ने जरूरतमंद छात्रों की मदद करने के उनकी जिंदगी बदल दी है और आने वाले निकट भविष्य में हमलोग भी बिहार सुपर 30 के तर्ज पर कई कार्यक्रम संचालित करेंगे। जिसमे आनंद कुमार की सक्रिय मदद की आवश्यकता होगी।

Bihar Diwas

Janmanchnews.com

उन्होंने कहा कि रहमान 30 भी हमलोगों ने इसी सोच के तहद शुरू किया है। शिक्षा से संबंधित किसी भी कार्यक्रम के लिए सभी मदद का आश्वासन देते हुए आनंद कुमार ने कहा कि वर्तमान समय में पूरी दुनिया में ज्ञान ही वास्तविक सशक्तिकरण का माध्यम है। आज के तारीख में किसी भी समाज के लिए अपने मानव संसाधनों को सर्वोत्तम संभव तरीके से तैयार करना ही सबसे महत्वपूर्ण कार्य है।

शिक्षित मानव संसाधनों के सिवा और कुछ भी देश को मजबूत नहीं कर सकता है। आगे उन्होंने कहा कि मानव विकास में निवेश ही किसी राज्य या देश की सबसे बड़ी पूंजी हो सकती है। यह तो बड़ी ख़ुशी की बात है कि भारत 30 साल से कम उम्र के लोगों के रहने वाला सबसे बड़ा देश है और हमलोग अधिकतम लाभ तभी उठा सकते हैं जब शिक्षा सभी वर्गों तक पहुंचेगी।

आनंद कुमार को आईआईटी के लिए छात्रों को मुफ्त शिक्षा देने के लिए जाने जाते हैं। उल्लेखनीय सफलता दो दशकों से चल रही है। अब उनके जीवन पर एक बायोपिक बनाई जा रही है,जिसमें बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन मुख्य भूमिका में हैं।

आनंद कुमार ने कहा कि आगामी 26 जुलाई को रिलीज़ होने वाली फिल्म दुनिया के तमाम मेहनती शिक्षकों तथा छात्रों को समर्पित है , जिन्होंने कठिनतम बाधाओं के बावजूद अपनी कोशिशें जारी रखीं। उन्होंने आगे बताया कि उनके छात्रों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया और आज वे न सिर्फ मेरी बल्कि देश के ताकत बन गए। यही शिक्षा की शक्ति है।