BREAKING NEWS
Search
मुजफ्फरपुर

बनारस में फिर चली गोली, अधेड़ दुकानदार की मौत, हफ्तेभर में दो हत्याकांड से शहर में सनसनी

400

डीजीपी द्वारा वाराणसी पुलिस की तारीफ करते ही बनारस में धड़ाधड़ा गिरी दो लाशें, शहर में दहशत, महकमें में हड़कंप…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: डीजीपी ओपी सिंह ने बनारस प्रवास के दौरान वाराणसी पुलिस की जमकर तारीफ की थी लेकिन लगता है उनकी तारीफ को वाराणसी पुलिस हज़म नही कर पायी, नतीजतन डीजीपी की मौजूदगी में ही जैतपुरा क्षेत्र में एक युवक की हत्या गोली मारकर कर दी गई। उस हत्या को अभी एक हफ्ता भी नही बीता था कि गुरुवार की रात में सारनाथ क्षेत्र में एक अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई। एक हफ्ते में दो हत्या नें महकमें में हड़कंप की स्थिति पैदा कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार सारनाथ थाना क्षेत्र के रजनहिया में गुरुवार की रात एक अधेड़ दुकानदार को गोली मारी गई है। सूत्रानुसार बसंता यादव (52) का बनियापुर में आवास है। घर से कुछ ही दूरी पर स्थित शराब की दुकान के पास वह अंडा व भूजा बेचते थे। पुलिस की पूछताछ में क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि रात में शराब पीने आए चार बदमाशों से बैठने व अंडा-दाना को लेकर विवाद हुआ था। नाराज बदमाश जाते समय देख लेने की धमकी तक दे गए।

रात्रि में वह दुकान बंद कर बर्तन धो रहे थे तभी तीन बाइक पर सवार आधा दर्जन से ज्यादा युवक मौके पर पहुंचे और गाली देना शुरू कर दिए। विरोध पर सीने में दो गोलियां दागकर असलहा चमकाते हुए फरार हो गए। परिजन उसे पहले मलदहिया स्थित एक निजी अस्पताल लाए। यहां से उसे कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने पूर्व में ही मौत की पुष्टि की, इसके बाद परिजन शव लेकर घर चले गए।

इस बीच किसी ने पुलिस को सूचना दी, सारनाथ थाना प्रभारी अखिलेश मिश्रा मौके पर पहुंचे और घटना के कारणों का पता लगाने में जुट गए लेकिन देर रात तक कोई सुराग हाथ नहीं लग सका। मृतक को तीन बेटा व एक बेटी है। एसपी सिटी का कहना है कि जल्द ही हमलावर पुलिस की गिरफ़्त में होगें।

डीजीपी के वाराणसी दौरे के बाद एक ही हफ्ते में दो गोलीकांड और हत्या से शहर में दहशत कायम होती दिख रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर पुलिस किस कार्य प्रणाली से काम कर रही है कि एक बार फिर से असलहा चमकने लगा है। बहरहाल, डीजीपी की तारीफ के बाद हाल की घटनाएं पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं।

दूसरी तरफ़ गुरुवार की दोपहर में जैतपुरा क्षेत्र में हत्या के मामले में मुख्य आरोपी के सरेंडर के बाद इस घटना के आरोपियों तक पहुंचना पुलिस के लिए और मुश्किल हो गया है, कारण यह है कि ग्रामीण क्षेत्र में घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर शहर छोड़कर पूर्वाचल में भी भाग सकते हैं। इसके मद्देनजर पूरे पूर्वाचल को अलर्ट कर दिया गया है।