BREAKING NEWS
Search
BJP and Congress

एनडीए में टूट के संकेत? राजभर और शिवसेना का राहुल गांधी को लेकर चौंकाने वाला बयान

405

नई दिल्ली। एनडीए के सहयोगी दलों ने जिस प्रकार से बीजेपी के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे हैं उससे कयास लगाएं जा रहे हैं कि सबकुछ ठीक नहीं है। ताजा बयान की बात करें तो सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के काबिना मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद के लिए फिट उम्मीदवार करार दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि राहुल इस पद के लिये उपयुक्त व्यक्ति हैं। फिर भी जनता मालिक है, वह जिसे चाहेगी वही प्रधानमंत्री बनेगा। हर व्यक्ति में गुण होता है, राहुल में भी है, जिस तरह वर्तमान समय में केंद्र सरकार चल रही है, राहुल भी उसी तरह सरकार चलाएंगे। प्रियंका गांधी को कांग्रेस महासचिव बनाये जाने पर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की सम्भावनाओं को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रियंका वोट में कितना इजाफा करने में सफल होंगी, यह तो समय बतायेगा। लेकिन यह सही है कि प्रियंका के महासचिव बनने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश का संचार हुआ है। राजभर ने कहा कि भाजपा के साथ उनके दल के गठबंधन का 24 फरवरी आखिरी दिन होगा। उन्होंने भाजपा पर पिछड़े वर्ग को धोखा देने का आरोप लगाया और दावा किया कि लोकसभा के आगामी चुनाव में सवर्ण तथा पिछड़े वर्ग के बीच राजनैतिक संघर्ष होगा और पिछड़े वर्ग सपा-बसपा गठबंधन के साथ होंगे।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर राम मंदिर मसले को लेकर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया है। प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री राजभर ने बलिया जिले के रसड़ा स्थित आवास पर सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए भाजपा पर एक बार फिर निशाना साधा। योगी आदित्यनाथ के, एक निजी टेलीविजन चैनल को दिये गये इंटरव्यू में राम मंदिर मसले का समाधान 24 घण्टे में निकाल देने के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया। राजभर ने सवाल किया कि भाजपा केन्द्र में अपने पांच वर्ष के शासन काल में राम मंदिर मसले का समाधान नहीं निकाल सकी तो योगी 24 घण्टे में क्या कर लेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश तक में सरकार है, उसे राम मंदिर बनाने के लिये रोका किसने है।

संजय राउत के बयान पर फडणवीस का पलटवार

उधर शिवसेना और भाजपा की दरारें दिन पर दिन गहरी होती जा रही हैं। शिवसेना के नेता संजय राउत ने सोमवार को कहा था कि हम बड़े भाई की भूमिका में हैं और फिफ्टी-फिफ्टी का बंटवारा नहीं हो सकता। शिवसेना को ज्यादा सीटें देनी होंगी। इस पर पलटवार करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि हम शिवसेना से गठबंधन के लिए उतावले नहीं हैं। फडणवीस जालना में भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की एक दिवसीय बैठक के समापन भाषण में बोल रहे थे। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहती है लेकिन इसके लिए हम उतावले नहीं हैं। हम हिंदुत्व के संरक्षक के तौर पर गठबंधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ मजबूत लड़ाई लड़ना चाहते हैं।

वहीं भाजपा के कई मंत्रियों ने कहा कि अगर हिंदुत्व विरोधी ताकतों का सामना करना है तो शिवसेना के साथ गठबंधन जरूरी है। गौरतलब है कि महराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना का सरकार चल रही है लेकिन दोनों के संबंध तुम्हीं से मुहब्बत तुम्हीं से लड़ाई वाले माहौल में हैं। शिवसेना भाजपा को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ती। ऐसा भी माना जा रहा है कि दोनों शायद साथ में चुनाव न लड़ें लेकिन दोनों को यह भी पता है कि अगर अलग-अलग लड़े तो इसका सीधा फायदा कांग्रेस और शिवसेना को मिलेगा।