Akhilesh and Mulayam

तो क्या पिता मुलायम की इस बात को अखिलेश ने नज़रअंदाज़ कर पहुंचा दिया पार्टी को इस हालत में?

311

लखनऊ- लोकसभा चुनाव के लिए यूपी में बने सपा-बसपा के गठबंधन को जनता ने नकार दिया है. नतीजों में भाजपा को प्रचंड बहुमत के साथ जीत मिली है.

आपको बताते चले कि चुनाव के नतीजों में एक तरफ जहां सपा को 5 सीटें मिली है, तो वहीं दूसरी तरफ बसपा ने 10 सीटों पर ही जीत हासिल की है. साथ ही महागठबंधन के साथी दल आरएलडी को एक भी सीट नहीं मिल पाई है.

वहीं अब चुनाव के नतीजों से ऐसा लग रहा है कि बसपा से आधी सीटों पर समझौता करने वाली समाजवादी पार्टी के खाते में मायावती की पार्टी का वोट बिलकुल ट्रांसफर नहीं हुआ है.

वहीं यह भी बताया जा रहा है कि चुनाव से पहले सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव बसपा के साथ गठबंधन करने के विचार में नहीं थे. लेकिन अखिलेश को लगता था कि सपा और बसपा का वोट बैंक मिलकर भाजपा को पीछे छोड़ सकता है. मगर परिणाम इसके सीधे उल्टा हो गया.