Milind Soman

‘आयरन मैन ऑफ इंडिया’ ने जब 51 साल की उम्र में किया कमाल, मुरीद हुई पूरी दुनिया

347
Anil Aryan

अनिल आर्यन

खेल डेस्क। दुनिया के लिए मिशाल बने मिलिंद सोमन ने 51 की उम्र में वो कर दिखाया, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। ‘मेड इन इंडिया’ एल्बम और लोकप्रिय टीवी शो ‘कैप्टन व्योम’ से मशहूर होने वाले मिलिंद ने बॉलीवुड इंडस्ट्री से किनारा किया और स्पोर्ट्समैन बन गए।

उन्होंने 2015 में आयरमैन चैलेंज पूरा किया था। इसमें उन्हें आयरनमैन ऑफ इंडिया का खिताब दिया गया था। इस चैलेंज को मिलिंद ने 15 घंटे और 19 मिनट में पूरा कर लिया था।

यह एक ट्राइथेलॉन प्रतियोगिता है, जिसमें 3।8 किलोमीटर तक तैरना, 180।2 किलोमीटर साइकल चलाना और 42.2 किलोमीटर तक बिना रुके दौड़ना होता है।


मिलिंद ने इस तरफ उपलब्धि हासिल की और देश का नाम रोशन किया। उन्होंने दुनिया की सबसे मुश्किल मैराथन जीती। मिलिंद ने नंगेपैरों से 517 किमी की दौड़ पूरी की थी और ज्यूरिख में देश का नाम रोशन किया था। इसमें पहले दिन 10 किलोमीटर तक तैरना और 148 किमी तक साइकलिंग करनी होती है। दूसरे दिन 276 किलोमीटर तक साइकिल चलानी पड़ती है। तीसरे दिन 84 किमी तक दौड़ लगानी होती है।


इस मैराथन में सोमन के साथ चार भारतीय भी शामिल थें, जिन्होंने तीन दिन में 500 किमी की दूरी तय की थी। सोमन ने अपने फेसबुक अकाउंट पर मैराथन की तस्वीरें शेयर करते हुए जीत की खुशी जाहिर की थी। उन्होंने अपनी मां के साथ भी एक तस्वीर शेयर की थी।


वर्ल्ड ट्रायथलॉन कारपोरेशन के इस इवेंट में 3.8 किलोमीटर तैराकी, 180.2 किलोमीटर साइकिलिंग और 42.2 किलोमीटर दौड़ शामिल होती है। जो शख्स इस प्रतियोगिता को 16 घंटे से कम समय में पूरा कर लेता है, उसे ‘आयरनमैन’ का खिताब दिया जाता है। इंडिया का नाम रोशन करते हुए मिलिंद सोमन ने इसे 15 घंटे 19 मिनट में पूरा किया था। कम ही लोग जानते हैं कि मिलिंद 9 साल की उम्र में नेशनल स्विमिंग के चैंपियन बन चुके थे। 23 की उम्र तक वो लगातार स्विमिंग से जुड़े रहे और बाद में उन्होंने स्पोर्ट्स से दूरी बना ली।


मिलिंद ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था, “मेरे घर के पास एक सार्वजनिक स्वीमिंगपूल हुआ करता था। जहां पूरे मोहल्ले के बच्चे नहाने के लिए जाते थे। मैं भी वहां देखने के लिए जाया करता था। तब मैं क्लास 9वीं का स्टूडेंट था। एक बार मैं पूल के पास खड़ा होकर लोगों को पूल में नहाते देख रहा था तभी किसी ने मुझे पीछे से धक्का मार दिया मैं पूल में गिर गया।


लेकिन तभी से मेरे अंदर से पानी का डर भी निकल गया और स्विमिंग करना सीख भी गया। बस वहीं से स्पोर्ट्स पर्सन बनने का सफर मेरा शुरू हो गया। इसके बाद धीरे-धीरे मैंने पढ़ाई के साथ अपने आप स्पोर्ट्स पर्सन के तौर पर तैयार किया। अब मुझे अपना मॉडल, एक्टर और स्पोर्ट्स पर्सन तीनों रूप काफी पसंद है।’

Anil@janmanchnews.com

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।