BREAKING NEWS
Search
domchanch strike

पेट्रोल-डीजल में मूल्य वृद्धि के खिलाफ में शहर रहा बंद

320
rajesh kumar mehta

राजेश कुमार मेहता

डोमचांच। पेट्रोल-डीजल में मूल्य वृद्धि के खिलाफ 10 सितंबर को आहूत भारत बंद को सफल बनाने के लिये तमाम विपक्षी दल मैदान में कूद पड़े हैं। कांग्रेस के इस भारत बंद की घोषणा ने संपूर्ण विपक्ष को फिर से एक बार एक जुट होने का मौका दे दिया हैं। बंद को सफल बनाने के लिये आम जनता से समर्थन की अपील की जा रही हैं।

यह पहला मौका हैं। जब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने भारत बंद की घोषणा की हैं। भारत बंद को लेकर पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दर को मुद्दा बनाया गया हैं और संपूर्ण विपक्ष इस मुद्दे पर सड़क पर आवाज बुलंद करती नजर आएगी।

बता दें कि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते मूल्य ने देश की राजनीति में उबाल ला दिया हैं। मूल्य वृद्धि के नाम पर राजनीति की आग को भड़काने और उस पर राजनीतिक रोटी सेंकने के लिये संपूर्ण विपक्ष 10 सितंबर को सड़क पर उतरेगी। भारत बंद कहे या देश व्यापी हड़ताल, आम जनता को इस नारे के सहारे इसकी सफलता के लिये समर्थन की अपील की जा रही हैं।

झारखंड में भारत बंद को सफल बनाने के लिये झारखंड के कोडरमा डोमचांच के नामधारी पार्टियों से लेकर राजद जैसे संगठनों ने कमर कस ली हैं। प्रदेश स्तर से जिला अध्यक्षों और प्रभारियों को विशेष तौर पर पूरी तैयारी के साथ सड़क पर उतरने का निर्देश जारी किया गया हैं। इसको लेकर नुक्कड़ सभा, बैठक और प्रचार-प्रसार के जरिये बंद को सफल बनाने की योजना बनाई जा रही हैं।

भारत बंद के बहाने पेट्रोल-डीजल के दर में वृद्धि ही नहीं, केंद्र सरकार की उन तमाम असफलताओं पर सवाल किए जा रहे हैं। जिससे आम जनता त्रस्त हैं। वामदलों ने इसे देश व्यापी हड़ताल का नाम दिया है और उसकी ये कोशिश है कि इस हड़ताल या बंदी में राजनीतिक दलों से ज्यादा आम जनता की भागीदारी हो। वहीं डोमचांच थाना प्रभारी के समीक्ष सभी विपक्षी पार्टियों के द्बारा गिरफ्तारी की गई और डोमचांच थाना प्रभारी और बीडीओ मनीष कुमार द्वारा खिचड़ी खिला कर सभी को छोड़ दिया गया।