Asaduddin Owaisi

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को कभी अवैध नहीं ठहराया- असदुद्दीन ओवैसी

411

नई दिल्ली। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा व्यभिचार कानून पर दिए  फैसले को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने एक बड़ी बात कही है। इस मुद्दे को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कोर्ट ने पहले धारा 377 और अब धारा 497 में गैर-आपराधिक घोषित कर दिया है। मगर तीन तलाक कानून में दंड का प्रावधान है।

लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तीन तलाक मामले को लेकर कहा कि इस्लाम में तीन तलाक को अपराध मानना गलत है क्यों कि इस्लाम में निकाह एक करार है। उन्होंने कहा कि हमारा समाज पितृसत्तात्मक है, फिर महिलाओं की मदद कौन करेगा। अगर जब पति जेल में हो पत्नी उसका इंतजार क्यों करे।

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को कभी अवैध नहीं ठहराया। इसके आलावा तीन तलाक मामले को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यह अध्यादेश पूरी तरह मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है। उन्होंने मोदी सरकार के इस फैसले को समानता के मूलभूत अधिकार के खिलाफ बताया।