BREAKING NEWS
Search

लॉकअप में फूट-फूट कर रोया पहलवान सुशील कुमार फिर उगले कई राज…पढ़िए

254
Share this news...

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को बताया कि छत्रसाल स्टेडियम विवाद मामले में गिरफ्तार दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार से करीब चार घंटे तक पूछताछ की गई. कुमार को उसके सहयोगी अजय के साथ रविवार को बाहरी दिल्ली के मुंडका इलाके से गिरफ्तार किया गया था. अधिकारियों ने कहा कि वे अलग-अलग एंगल से मामले की जांच कर रहे हैं. पुलिस ने एक बयान में कहा कि “हम कुमार से उन घटनाओं के क्रम का पता लगाने के लिए पूछताछ कर रहे हैं जो अपराध की वजह बनीं और घटना के बाद उसके ठिकाने के बारे में भी.

लॉकअप में फूट-फूट कर रोया सुशील कुमार…

मिली जानकारी के मुताबिक सुशील कुमार और उसके सहयोगी से पुलिस मे करीब चार घंटे पूछताछ की. पुलिस की पूछताछ में सुशील कुमार कई बार फफक-फफक कर रो पड़ा. घटना के बाद सुशील को अपने अपने कैरियर की चिंता सता रही है और उसे अपने किए पर पछतावा हो रहा है. बता दें कि गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच की हिरासत में सुशील ने पूरी रात जागकर बिताई, यहां तक कि उसने भोजन करने से भी मना कर दिया.

पूछताछ में बड़ी बात आयी सामने…

वहीं पुलिस ने कहा है कि उनसे उसके सहयोगियों और दोस्तों के बारे में भी पूछताछ की गई जिन्होंने उसे छिपाने में मदद की. उसे क्राइम सीन को समझने के लिए फिर से वहां ले जाया जाएगा. सुशील कुमार ने बताया कि वह सागर को सिर्फ डराना चाहता था. इसलिए पिटाई की और हथियार भी इसीलिए लाए गए थे. पुलिस ने पहले कहा था कि यह घटना मॉडल टाउन इलाके में एक संपत्ति को लेकर हुए विवाद के कारण हुई. आरोपी पीड़ितों को स्टेडियम के अंदर ले गए जहां उन्होंने पार्किंग क्षेत्र में उनके साथ मारपीट की. घटना के समय सुशील कुमार मौके पर मौजूद थे

हालांकि, पुलिस ने घटना के एक कथित वीडियो के बारे में ब्योरा देने से इनकार कर दिया, जिसे कुमार ने कथित तौर पर अपने सहयोगी को रिकॉर्ड करने के लिए कहा था. अधिकारियों ने कहा था कि पुलिस सुशील कुमार और कथित गैंगस्टर काला जत्थेदी के बीच संबंधों की भी जांच कर रही है, जिसका भतीजा सोनू भी विवाद में घायल हो गया था. छत्रसाल स्टेडियम के अंदर कुमार और अन्य द्वारा कथित तौर पर मारपीट करने के बाद एक 23 वर्षीय पहलवान की मौत हो गई और उसके दो दोस्त घायल हो गए.

Share this news...