BREAKING NEWS
Search
health department

डेढ़ दर्जन लोगों की हुई मौत से गांव में बना डर का माहौल

424
Sarfaraz Alam

मोहम्मद सरफ़राज़ आलम

सहरसा। सत्तरकटैया प्रखंड के विशनपुर पंचायत के संतपुर गांव में चार माह के अन्दर डेढ़ दर्जन लोगों की मौत होने से आमलोगों में भय का माहौल हैं। एक के बाद एक की मौत होने से लोगों में तरह तरह की चर्चा हैं। संतपुर गांव का कहानी ये हैं कि अब गांव में बाहर के लोग सहित रिश्तेदार भी आने से हिचक रहे हैं।

इतना ही नहीं होम डिलेवरी वाले, अखबार और पानी देने वाला भी गांव में आने से हिचक रहा हैं। इसी दौरान मनीष कुमार नामक युवक की मौत हो गई थी। जिसका नकवाल भोज हैं। लेकिन मृतक मनीष कुमार के यहां भोज खाने के लिए एक भी ग्रामीण तैयार नही था। ग्रामीणों को एक ही बात का डर सताए जा रहा है कि अगली बारी किसकी हैं।

बताया जाता है कि गांव में एक की मौत होने के बाद जैसे ही उसका क्रिया कर्म समापन की ओर होता हैं। दूसरे व्यक्ति की मौत हो जाती हैं।जिस कारण ग्रामीण श्राद्ध का भोज खाने को तैयार नहीं है।

पहले तो लोगों ने इसे सहजता से लिया। लेकिन जब धीरे-धीरे मौत का यह सिलसिला बढ़ने लगा तो गामीणों में भय का माहौल कायम हो गया हैं। कोई इसे घातक बीमारी तो कोई इसे दैविक प्रकोप बता रहे हैं। सच जो भी हो लेकिन हर सप्ताह के बाद एक व्यक्ति की मौत ने स्थानीय लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया हैं।

सब से बड़ी बात यह है जिसे एक ही पुत्र प्राप्त है वैसे लोग गांव ही नहीं बल्कि जिला छोड़ कर दूसरे जगह चले गए हैं। इसके अलावे गांव के युवा भी बहुत ही भयभीत हो गए हैं । जिस कारण गांव छोड़ कर दूसरे जगह चले गए हैं।

पहले जब वृद्ध व्यक्ति मरते थे तो लोग यही समझते थे के उम्र ज्यादा होने की कारण इनकी मौत हुई है।लेकिन जब युवाओं की मौत होने लगी तब गांव के लोग घबराने लगे वहिं ग्रामीणों वालो ने  बताया की वृद्ध के साथ साथ अब युवा भी चपेट में आ रहे हैं।

बताया जाता है कि  पहले पेट में दर्द और उल्टी होने का अहसास होता है और जबतक उसे उपचार के लिये ले जाया जाता हैं। तबतक उसकी मौत हो जाती हैं। ग्रामीणों ने बताया कि लोग शाम के बाद घर से बाहर नहीं निकलते हैं। रिश्तेदार भी आने से हिचकते हैं।

सोमवार की बीती रात अचानक उसी गांव के 22 वर्ष मन्नू कुमार की अचानक तबियत बिगड़ गई। जिसे सदर अस्पताल लाया गया। जहां बेहतर इलाज के लिए उसे शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। जहां डॉक्टर ने पेट में दर्द होने की बात कही हैं।

इस घटना की सूचना पाकर महिषी विधानसभा क्षेत्र के राजद विधायक अब्दुल गफूर संतपुर गांव पहुंच कर घटना जायजा लिया। साथ ही ग्रामीणों को संतावना दिया उन्होंने कहा कि जिस तरह से लोगों की मौत हो रही उसे चिंता का विषय बताया हैं।

rjd MLA

Janmanchnews.com

इस तरह हो रही घटनाओं के बाद स्वास्थ विभाग में हलचल मच गई। आनन फानन में सहरसा के सिविल सर्जन सहित कई डॉक्टरों की टीम संतपुर गांव पहुंच कर ग्रामीणों से घटना की जानकारी लेकर जांच शुरू की इस दौरान सिविल सर्जन ने बताया कि हम लोग इस मामले में जांच शुरू कर दिए हैं। पीड़ित ग्रामीणों का ब्लड ले लिया गया हैं।

जांच कराने के लिए भेजा जा रहा हैं। साथ ही गांव में मेडिकल टीम को भी तैनात किया गया हैं। ग्रामीणों के लिए दवा भी उपलब्ध कराया गया हैं और पूरे गांव में ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा हैं। ताकि दुबारा इस घटना का कोई शिकार ना हो।