BREAKING NEWS
Search
Drama trial of covid vaccine

स्वास्थ्य मंत्री और प्रधान सचिव के सामने सबकुछ ठीक दिखाने के पहले ड्रामा का ट्रायल हुआ, उनके सामने वैक्सीन का

155
Share this news...

Patna: पटना में आज तीन सेंटरों पर कोरोना वैक्सीन का डेमो ड्राई रन चल रहा है। फुलवारी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य भवन में चल रहे रिहर्सल में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। यहां 25 हेल्थ वर्कर को ट्रायल वैक्सीन दी जा रही है लेकिन जिनका रजिस्ट्रेशन हुआ है, वे यहां पहुंचे ही नहीं हैं। उनके नाम पर किसी और पर वैक्सीनेशन का डेमो कर दिया गया। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के सामने सबकुछ ठीक दिखाने के लिए पहले ट्रायल हुआ, जिसके बाद वैक्सीन लगाने का डेमो हुआ।

वैक्सीन ट्रायल का जायजा लेने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय फुलवारी सेंटर पर पहुंचे। यहां उन्होंने ड्राई रन के बारे में जानकारी ली। स्वास्थ्यकर्मियों ने बताया कि वैक्सीन का डेमो होने के बाद मोबाइल पर मैसेज भी जा रहा है। उसमें बधाई संदेश है। स्वास्थ्य मंत्री ने मोबाइल पर मैसेज भी देखा। ट्रायल की निगरानी करने पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह भी पहुंचे। आज से पूरे देश में कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन शुरू हो चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के कुल 116 जिलों में 259 जगहों पर COVID-19 वैक्सीन के लिए ड्राई रन हो रहा है।

वैक्सीन ट्रायल का निरीक्षण करने पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय।
वैक्सीन ट्रायल का निरीक्षण करने पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय।

25 हेल्थ वर्कर को दी जा रही वैक्सीन

फुलवारी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जिनका रजिस्ट्रेशन हुआ, वे यहां पहुंचे ही नहीं। ऐसी स्थिति में दूसरे हेल्थ वर्कर को बिठा दिया गया है। स्वास्थ्य केंद्र पर आईं कुसुम देवी को रेखा देवी की जगह बिठाया गया। उनके हाथ पर रेखा देवी का नाम लिखा गया है और वह उन्हीं के रजिस्ट्रेशन नंबर पर वैक्सीन के डेमो के लिए जाएंगी। हालांकि यह माजरा उन्हें भी नहीं समझ में आ रहा है लेकिन स्वास्थ्य विभाग की बड़ी गड़बड़ी देखने को मिल रही है। आशा वर्कर उषा सिन्हा ट्रायल लेने वाली बिहार की पहली महिला बनी हैं। आशा वर्कर उषा सिन्हा ने कहा कि डर नहीं लग रहा है। अपने इलाके में जाकर लोगों को यह बताएंगी।

ट्रायल लेतीं उषा सिन्हा।
ट्रायल लेतीं उषा सिन्हा।

डीएम के पहुंचने के बाद शुरू हुई साफ-सफाई

वैक्सीन ट्रायल के कारण फुलवारी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर सभी की नजर थी लेकिन यहां तैयारी डीएम के आने के बाद शुरू हुई। पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह जब केंद्र पर पहुंचे तब अचानक से साफ-सफाई शुरू हो गई। इसके अलावा ट्रायल वैक्सीनेशन के लिए तीन लिस्ट बन गई, जिसके कारण ट्रायल में दिक्कत आई। नाम में गड़बड़ी होने के कारण दूर-दूर से आए हेल्थ वर्कर परेशान दिखे। शोभा देवी को बबीता देवी के नाम पर ट्रायल वैक्सीन लेने जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि मेरा नाम शोभा देवी है लेकिन बबीता देवी के नाम पर वैक्सीन लेना होगा।

ट्रायल के दौरान लिस्ट में नाम चेक करतीं डॉक्टर।
ट्रायल के दौरान लिस्ट में नाम चेक करतीं डॉक्टर।

पटना में बने 3 सेंटर
पटना में 3 सेंटरों पर डेमो ड्राई रन हो रहे हैं। शास्त्रीनगर शहरी स्वास्थ्य केंद्र, फुलवारी पीएचसी और दानापुर अनुमंडल हॉस्पिटल में डेमो किया जा रहा है। सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी ने बताया कि ड्राई रन में बस टीका नहीं लगेगा। बाकी की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। मसलन वैक्सीन के खाली बॉक्स विधिवत सुरक्षा के साथ अस्पतालों तक पहुंचाए जाएंगे। अफसर इंतजामों की निगरानी करेंगे। किसी भी तरह की कमी होने पर उसे दुरुस्त किया जाएगा। प्रत्येक सेंटर पर एक टीम होगी। विभाग से जुड़े लोगों का कहना है कि सेंटर के हिसाब से हेल्थ वर्करों को एसएमएस भेजकर अगले दिन टीकाकरण की सूचना दी जाएगी।

Share this news...