BREAKING NEWS
Search
Nikita tomar shot dead by taufeeq

कार में बैठने से मना किया तो छात्रा को गोली मारी, धर्म बदलने का दबाव बना रहा था आरोपी

259

New Delhi: हरियाणा के फरीदाबाद में बदमाशों ने कॉलेज से लौट रही छात्रा की गोली मारकर हत्या दी। छात्रा बी कॉम फाइनल इयर में थी। परिजन के मुताबिक आरोपी तौसीफ छात्रा के साथ स्कूल में पढ़ता था। तभी से वह उस पर दोस्ती का दबाव बना रहा था। तौसीफ समेत दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, छात्रा निकिता तोमर सोमवार को अग्रवाल कॉलेज (वल्लभगढ़) में पेपर देने गई थी। शाम 4 बजे घर लौटते समय वह भाई का इंतजार कर रही थी। तभी कार से तौसीफ अपने कुछ दोस्तों के साथ आ गया। तौसीफ ने निकिता को गाड़ी में खींचने की कोशिश की। विरोध करने पर कनपटी पर गोली मार दी।

निकिता सोमवार को पेपर देकर घर जा रही थी, तभी उस पर हमला हो गया।- फाइल फोटो।
निकिता सोमवार को पेपर देकर घर जा रही थी, तभी उस पर हमला हो गया।- फाइल फोटो।

छात्रा के पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि तौसीफ 12वीं तक निकिता के साथ ही पढ़ता था। उसने कई बार दोस्ती के लिए निकिता पर दबाव बनाया। वह बेटी पर धर्म बदलने का दबाव भी बना रहा था। 2018 में तौसीफ ने निकिता को अगवा किया था। हालांकि, तब बदनामी के डर से हमने समझौता कर लिया था।

निकिता के पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि वह सेना में भर्ती होना चाहती थी।
निकिता के पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि वह सेना में भर्ती होना चाहती थी।

सेना में जाकर देश सेवा का था सपना
पिता ने यह भी बताया कि निकिता पढ़ने में काफी अच्छी थी। 12वीं में उसके 95% नंबर आए थे और बी कॉम में दोनों साल वह टॉपर रही। इस बार फिर टॉप करने के लिए मेहनत कर रही थी। वह लेफ्टिनेंट बनकर देश की सेवा करना चाहती थी। उसने हाल ही में एयरफोर्स की परीक्षा भी दी थी। साथ ही एनडीए के लिए भी लगातार तैयारी कर रही थी।

तुरंत कार्रवाई की मांग को लेकर रोड जाम में मृतक निकिता का बड़ा भाई नवीन तोमर। नवीन ने बताया कि वह रोज बहन को छोड़ने और लेने जाता था।

दोनों आरोपी गिरफ्तार
एसीपी जयवीर राठी बताया कि आरोपी रेहान को नूंह से गिरफ्तार किया गया। इससे पहले सोमवार देर रात तौसीफ को नूंह से गिरफ्तार किया था। वहीं, मंगलवार सुबह निकिता के परिजन ने बल्लभगढ़-सोहना मार्ग पर चक्काजाम किया।