kodarma

प्रदूषण से कोडरमा की जनता बेहाल, मंत्री की भी नहीं सुनी गई बात

186

कोडरमा/कोडरमा-महेश भारती की रिपोर्ट

कोडरमा। यह बातें ऐश लदी वाहन की है। ज्ञात हो कि डीवीसी पावर प्लांट बांझेडीह में हो रहे बिजली उत्पादन से निकल रही राख जो डोमचांच के अम्बादाह खदान को भरने का काम किया जा रहा है। जिसको लेकर ले जाने के नियमों का खुल्लम खुल्ला उड़ रहा है धज्जियां, सो रहे हैं परिवहन पदाधिकारी।

बता दे की ऐश लदे हाईवा बाँझेडीह फोरलेन चंदवारा एनएच से रांची पटना रोड होते हुए कोडरमा हनुमान मंदिर से डोमचांच के रास्ते खदान को भरने का काम किया जा रहा है। जिससे रास्ते में डस्ट गिरने से आम जनों व सड़क पर चल रहे राहगीरों को चलने में काफी दिक्कते हो रही है। आंखों में एवं चेहरों पर इसका बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

जिसको लेकर बीते दिन कोडरमा नगर वासियों व भारतीय जनता युवा मोर्चा कोडरमा के जिलाध्यक्ष राजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में इसके खिलाफ जिला प्रशासन से लेकर रोड जाम तक संघर्ष किया गया।

जिसको देख सूबे की शिक्षा मंत्री ने संज्ञान में लेते हुए 18 जनवरी को रांची से आने के क्रम में खुद रोड पर उतर कर करीब 30 -40 हाईवा को पकड़ कर थाना को सुपुर्द किया गया था जो दूसरे ही दिन छोड़ दिया गया।

तब से कुछ दिनों तक परिचालन बंद रहा। लेकिन अब देखा जा रहा है कि फिर से रोड पर धड़ल्ले से ऐश लदी वाहन हाईवा काफी तेजी में धूल उड़ाते हुए मंत्री आवास से महज 50 मीटर की दूरी पर गुजरने लगी।

बता दें की सूबे की शिक्षा मंत्री ने ऐश लदे हाईवा की चाल और उड़ रही धूल को देख कर काफी गुस्से में थी और उसी समय कही थी की जिले में ऐश लदे हाईवा का परिचालन किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जाएगा और दूरभाष पर जिले के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए वैकल्पिक व्यवस्था करने को कही थी।

साथ ही उन्होंने यह भी कही थी की सड़क किनारे ऐश का अंबार लगने से त्वचा एवं आंख संबंधी बीमारियों का फैलने का खतरा बढ़ गया है। वहीं उन्होंने रोड पर चलने से खतरे का भी अंदाजा लगाते हुए बड़ी दुर्घटना होने की संकेत दी थी। मजे की बात यह है कि उसी वक्त बरकट्ठा के पूर्व विधायक व भाजपा नेता अमित यादव ने हाईवा छुड़ाने को लेकर पैरवी में आए थे।

जिस पर मंत्री महोदया ने साफ शब्दों में कही थी की इस कार्य में कोई भी हो गाड़ी नहीं छूटेगी और गाड़ी इस रोड से नहीं चलने देने की बात कही थी। लेकिन आज कौन सी परिस्थितियां आ गई है कि फिर से इस रोड में ऐश लदी हाईवा धड़ल्ले से चलने लगी। बता दे की मान, सम्मान तो दूर जुबान भी खाली जा रही है।

जिला के आला अधिकारी मंत्री महोदया की भी बात नहीं सुनी और जनता के विश्वास को ताक पर रखकर ऐश भर रहे खदान के संवेदक व डीवीसी से कर दी बड़ी डील और दौड़ने लगी ऐश लदी वाहन, जनता जाए तो जाए कहां, अब विरोध करने वाले नेता और संगठन भी चुप है, कुछ तो खिचड़ी पकी है, आपस मे लोग चर्चा कर रहे हैं।सोचने की बात है, कोडरमा की जनता राम भरोसे।